Breaking News

इजरायली बलों द्वारा मारे गए फिलिस्तानियों की संख्या मंगलवार को बढ़कर हुई 61

ये भी पढ़े – पाकिस्तान के विदेश मंत्री ख्वाजा मुहम्मद आसिफ का बयान-नहीं अच्छे हो सकते दोनों देशो के रिश्ते

ये विरोध प्रदर्शन जेरूसलम में अमेरिकी दूतावास के उद्घाटन के खिलाफ हुए थे। इजरायल सुरक्षाबलों ने कहा कि गाजापट्टी सुरक्षा बाड़ से सटे 13 स्थानों पर फिलीस्तीन के 40,000 लोगों ने इस हिंसक दंगों में हिस्सा लिया। यह हिंसा जेरूसलम में अमेरिकी दूतावास के उद्घाटन के मद्देनजर हुई, जिसमें राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप की बेटी इवांका ट्रंप, उनके दामाद जेयर्ड कुश्नर और वित्त मंत्री स्टीवन नुचिन के नेतृत्व में अमेरिकी प्रतिनिधिमंडल ने हिस्सा लिया था।
बीबीसी के मुताबिक, इजरायली पुलिस और गुस्साए प्रदर्शनकारियों के बीच में हिंसक झड़प हुई। प्रदर्शनकारिरयों ने नए दूतावास के बाहर फिलीस्तीन के झंडे लहराए। इस दौरान कोई प्रदर्शनकारियों को हिरासत में भी ले लिया गया। इस बीच तुर्की और दक्षिण अफ्रीका ने इस घटना की निंदा की और अपने-अपने राजदूतों को इजरायल से वापस बुलाने की घोषणा की।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*