ओमबिरला ने विपक्षी दलों के संविधान समारोह में भाग न लेने पर बोला:

आजादी के अमृत महोत्सव के तहत आज संविधान दिवस मनाया जा रहा है। लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला ने शुक्रवार को कहा कि भारत का संविधान गीता की तरह है, जो नागरिकों को देश के लिए काम करने की प्रेरणा देती है। इस मौके पर उन्होंने विपक्षी दलों के संविधान समारोह में भाग न लेने पर भी बोला। ओम बिरला ने कहा कि उनका कहना था कि उनके लिए बैठने की व्यवस्था नहीं थी, ये झूठ है।

इससे पहले संसद के सेंट्रल हॉल में संविधान दिवस समारोह के उद्घाटन के अवसर पर निचले सदन के ओम बिरला अध्यक्ष ने कहा, “यदि हम में से प्रत्येक देश के लिए काम करने के लिए प्रतिबद्ध है, तो हम ‘एक भारत, श्रेष्ठ भारत’ का निर्माण कर सकते हैं।” ओम बिरला ने भारत के संविधान की तुलना श्रीमदभगवत गीता से की। उन्होंने कहा कि ये सिर्फ पुस्तक नहीं देश के नागरिकों को देश के लिए काम करने की प्रेरणा देती है।

इस समारोह के दौरान विपक्षी दल कांग्रेस ने हिस्सा नहीं लिया। कांग्रेस के संविधान दिवस कार्यक्रम में न पहुंचने पर ओम बिरला ने विपक्षी पार्टी को निशाने पर लिया। ओम बिरला ने कहा, “उनका कहना था कि उनके लिए बैठने की व्यवस्था नहीं थी इसलिए वे नहीं पहुंचे। लेकिन ये झूठ है।”

प्रदेश की धड़कन, 'इंडिया जंक्शन न्यूज़' के ताजा अपडेट पाने के लिए जुड़ें हमारे फेसबुक पेज से...

Check Also

भाजपा, सपा एवं बसपा के पदाधिकारियों समेत सैकड़ों लोगों ने कांग्रेस की सदस्यता ग्रहण की।

आज उत्तर प्रदेश कांग्रेस कमेटी के मुख्यालय पर पूर्व मंत्री एवं मीडिया चेयरमैन नसीमुद्दीन सिद्दीकी …