12 मार्च 1930 को आज ही के दिन किया गया था नमक का आंदोलन …

 

 

आज ही के दिन साबरमती आश्रम से दांडी मार्च तक गाँधी जी ने 24 दिनों का पैदल मार्च निकला था। यह आंदोलन अंग्रेज़ो के द्वारा नमक के लगाए गये कर के लिए था ,यह सत्याग्रह गांधीजी ने 16 से 19 किलोमीटर रोज लगबघ 24 दिनों तक किया , इस से पहले उन्होंने बिहार के चंपारन में ही एक सत्याग्रह किया था . उनके इस सत्याग्रह में 78 स्वयं सेवको में वेब मिलर भी उनके साथ थे। गांधीजी के इस सत्याग्रह में काफी संख्या में लोगो ने भाग लिया।

 

 

उन्होंने 6 अप्रैल 1930 को अपना सत्याग्रह तोड़कर नमक पे लगे कर के कानून को तोडा। भारत में अंग्रेजों के शाशनकाल के समय नमक उत्पादन और विक्रय के ऊपर बड़ी मात्रा में कर लगा दिया था और नमक जीवन जरूरी चीज होने के कारण भारतवासियों को इस कानून से मुक्त करने और अपना अधिकार दिलवाने हेतु ये सविनय अवज्ञा का कार्यक्रम आयोजित किया गया था।

प्रदेश की धड़कन, 'इंडिया जंक्शन न्यूज़' के ताजा अपडेट पाने के लिए जुड़ें हमारे फेसबुक पेज से...

Check Also

जानें हनुमान जी के 12 नामों की महिमा…

भगवान राम के भक्त हनुमान अपने भक्तों की हर विपदा को दूर करते हैं। ऐसी …

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com