आज के ही दिन महात्मा गाँधी की हत्या में शामिल गोडसे को उतारा गया था मौत के घाट|

बात 30 जनवरी 1948 की है। भारत को आजादी मिले 6 महीने हुए थे। शाम हो चुकी थी और घड़ी में बज रहे थे सवा पांच। महात्मा गांधी बिड़ला हाउस के प्रार्थना सभा की ओर जा रहे थे। उनके साथ एक शख्स थे गुरबचन सिंह, जिन्होंने गांधी जी से कहा था कि बापू आज आपको थोड़ी देर हो गई है। गांधी जी ने मुस्कुराते हुए जवाब दिया था कि जो लोग देर करते हैं, उन्हें सजा मिलती है। इस बात को कुछ मिनट ही हुए थे कि एक शख्स सामने आया और एक-एक कर तीन गोलियां महात्मा गांधी के सीने में उतार दीं। महात्मा गांधी की हत्या करने वाला शख्स था नाथूराम गोडसे।

नाथूराम विनायकराव गोडसे का जन्म एक मराठी चितपावन ब्राह्मण परिवार में हुआ था। उनके पिता, विनायक वामनराव गोडसे, एक डाक कर्मचारी थे; उनकी माँ लक्ष्मी (नव गोदावरी) थीं। जन्म के समय, उनका नाम रामचंद्र था।  एक दुर्भाग्यपूर्ण घटना के कारण नाथूराम को उनका नाम दिया गया था। जन्म से पहले, उनके माता-पिता के तीन बेटे और एक बेटी थी, तीनों लड़कों की बचपन से ही मृत्यु हो गई थी। पुरुष बच्चों को लक्षित करने वाले एक अभिशाप के डर से, युवा रामचंद्र को अपने जीवन के पहले कुछ वर्षों के लिए एक लड़की के रूप में पाला गया था|

आरएसएस की सदस्यता-

गोडसे 1932 में एक संघी (महाराष्ट्र) कार्यकर्ता के रूप में सांगली (महाराष्ट्र) में आरएसएस में शामिल हो गए, और एक साथ दोनों दक्षिणपंथी संगठनों के हिंदू महासभा के सदस्य बने रहे। उन्होंने अपने विचारों को प्रचारित करने के लिए अक्सर अखबारों में लेख लिखे। इस दौरान, गोडसे और एमएस गोलवलकर,(जो बाद में आरएसएस प्रमुख बने), अक्सर एक साथ काम करते थे, और उन्होंने बाबाराव सावरकर की पुस्तक “राष्ट्र मीमांसा” का अंग्रेजी में अनुवाद किया। जब गोलवलकर ने इस अनुवाद का पूरा श्रेय लिया, तब दोनों के बीच दरार आ गयी ।

10 फरवरी 1949 को जज आत्मचरण की अदालत ने नाथूराम गोडसे और नारायण आप्टे को फांसी की सजा दी। बाकी 5 लोग विष्णु करकरे, मदनलाल पाहवा, शंकर किस्तैया, गोपाल गोडसे और दत्ता परचुरे को उम्रकैद की सजा सुनाई गई

प्रदेश की धड़कन, 'इंडिया जंक्शन न्यूज़' के ताजा अपडेट पाने के लिए जुड़ें हमारे फेसबुक पेज से...

Check Also

BSNL अब अपने सभी पोस्टपेड प्लान के साथ इरोज नाउ सब्सक्रिप्शन प्रदान करेगी|

इरोज नाउ ने शुक्रवार को कंटेंट पार्टनरशिप के विस्तार की घोषणा की। इसने अपने प्रीपेड …