पुलवामा में शहीद जवानों को श्रद्धांजलि

पुलवामा के शहीदों की पहली बरसी, लेथपोरा में दी गई श्रद्धांजलि

लेथपोरा। पुलवामा में हुए आतंकी हमले को आज एक साल पूरे हो गए। इस हमले में शहीद हुए 40 जवानों को लेथपोरा के सीआरपीएफ कैंप में श्रद्धांजलि दी गई। कैंप में शहीदों की याद में बनाए गए स्मारक का उद्घाटन भी किया गया।

इस मौके पर जम्मू-कश्मीर जोन के स्पेशल सीआरपीएफ डीजी जुल्फिकार हसन ने कहा, पुलवामा हमले के साजिशकर्ताओं को कुछ महीनों के बाद निष्क्रिय कर दिया गया। वे लोग जिन्होंने साजिशकर्ताओं की मदद की थी, उन्हें गिरफ्तार किया जा चुका है। जिन लोगों ने हमले को अंजाम दिया था उनका हिसाब किया जा चुका है।

यह भी पढ़ें: कोरोना वायरस का कहर, चीन में अबतक 1500 मौतें

जुल्फीकार हसन ने कहा कि एनआईए द्वारा जांच की गई। जहां तक मैं जानता हूं यह सही दिशा में जा रही है। हमले शहीदों के परिवारों को मदद करने की पूरी कोशिश की है।

इससे पहले सीआरपीएफ ने एक ट्वीट में कहा, ‘तुम्हारे शौर्य के गीत, कर्कश शोर में खोये नहीं। गर्व इतना था कि हम देर तक रोये नहीं। हम न भूले हैं, न माफ किया है: हम पुलवामा में राष्ट्र की सेवा में अपने जीवन का बलिदान देने वाले अपने भाइयों को सलाम करते हैं। हम आभारी हैं, हम अपने बहादुर शहीदों के परिवारों के साथ खड़े हैं।’

क्या हुआ था 14 फरवरी, 2019 को

14 फरवरी, 2019 को 78 गाड़ियों का काफिला CRPF के 2500 जवानों को लेकर नेशनल हाइवे-44 पर जम्मू से श्रीनगर जा रहा था।

काफिला तड़के 3:30 पर जम्मू से निकला था और शाम तक उसे श्रीनगर पहुंचना था। नेशनल हाइवे दो दिन से बंद था। यही वजह थी कि काफिले में बड़ी संख्या में वाहन शामिल थे।

अवंतिपुरा के पास लेथपोरा में दोपहर करीब 3:15 पर विस्फोटकों से भरी एक कार जवानों को ले जा रही एक बस से टकरा गई। धमाके में सीआरपीएफ की 76वीं बटालियन के 40 जवान शहीद हो गए, जबकि कई घायल हो गए। घायलों को श्रीनगर के बेस अस्पताल में इलाज के लिए ले जाया गया।

जैश-ए-मोहम्मद ने इस हमले की जिम्मेदारी ली और हमलावर आदिल अहमद डार का एक वीडियो भी जारी किया। 22 वर्षीय डार काकपोरा का रहने वाला था और साल भर पहले ही उसने आतंकी संगठन को ज्वाइन किया था।

भारत सरकार ने इस कायराना हमले का बदला लेने के लिए आतंकी ठिकानों पर एयरस्ट्राइक करने का फैसला किया। 26 फरवरी को 12 मिराज 2000 जेट ने एलओसी पार की और बालकोट में आतंकी ठिकानों पर बमबारी की। भारतीय वायुसेना जैश के ट्रेनिंग कैंपों को मार गिराया, जिसमें कई आतंकियों की मौत हो गई।

 

प्रदेश की धड़कन, 'इंडिया जंक्शन न्यूज़' के ताजा अपडेट पाने के लिए जुड़ें हमारे फेसबुक पेज से...

Check Also

जामिया हिंसा में घायल छात्र ने मांगा 2 करोड़ का मुआवजा, याचिका दायर

नई दिल्ली। नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) को लेकर पिछले साल 15 दिसंबर को जामिया मिल्लिया …

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com