हाईकोर्ट का आदेश, प्राथमिक विद्यालय से जूनियर हाईस्कूल में प्रमोशन के लिए टीईटी पास करना है अनिवार्य

हाईकोर्ट ने कहा है कि प्राथमिक विद्यालय से जूनियर हाईस्कूल में प्रोन्नति पाने के लिए उच्च प्राथमिक स्तर का टीईटी पास करना अनिवार्य है। गैर टीईटी उत्तीर्ण प्राथमिक विद्यालयों के सहायक अध्यापक और प्रधानाध्यापक उच्च प्राथमिक विद्यालयों में प्रोन्नति के लिए अर्ह नहीं हैं। कोर्ट ने इस संबंध में एनसीटीई द्वारा जारी 12 नवंबर 2014 की अधिसूचना के नियम 4(बी) का पालन करने का निर्देश दिया है।

 

ये भी पढ़े – NIFT 2018 रिजल्ट हुआ घोषित ,ऐसे देखे छात्र..

 

जितेंद्र शुक्ला और राहुल यादव सहित कई याचिकाओं पर सुनवाई करते हुए न्यायमूर्ति अश्विनी कुमार मिश्र ने यह आदेश दिया। इसी क्रम में अब जूनियर हाईस्कूलों में कार्यरत सहायक अध्यापकों को भी प्रधानाध्यापक बनने के लिए टीईटी पास करना होगा। याचिका पर वरिष्ठ अधिवक्ता अशोक खरे, सीमांत सिंह और बेसिक शिक्षा परिषद के अधिवक्ता भूपेंद्र यादव आदि ने पक्ष रखा।

 

याचीगण का कहना था कि बेसिक शिक्षा परिषद ने 23 मार्च 2018 को सर्कुलर जारी कर उच्च प्राथमिक विद्यालयों में प्रोन्नति की सूचना जारी कर दी है। वरिष्ठता सूची भी लगभग तैयार है, मगर इसमें एनसीटीई की 23 अगस्त 2010 की अधिसूचना का पालन नहीं किया जा रहा है। अधिसूचना के अनुसार उच्च प्राथमिक विद्यालय में प्रोन्नति के लिए टीईटी अनिवार्य है।

 

 

एनसीटीई ने 12 नवंबर 14 को जारी परिपत्र में प्रोन्नति में भी टीईटी अनिवार्य किया है। इसी प्रकार से 11 फरवरी 2011 को जारी गाइड लाइन में भी कक्षा एक से पांच और छह से आठ तक पढ़ाने वाले अध्यापकों की नियुक्ति और प्रोन्नति के लिए अलग-अलग टीईटी उत्तीर्ण होना अनिवार्य है।

 

 

प्रदेश की धड़कन, 'इंडिया जंक्शन न्यूज़' के ताजा अपडेट पाने के लिए जुड़ें हमारे फेसबुक पेज से...

Check Also

ऑनलाइन बिरयानी ऑर्डर कर बुरा फंसा युवक, बैंक से कट गए 50 हजार!

एक युवक को ऑनलाइन बिरयानी ऑर्डर करना इतना महंगा पड़ा कि उसके अकाउंट से 49997  रुपये …

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com