पाकिस्तान की हवाईया उड़ गई थी विंग कमांडर अभिनंदन के जानें से…

वीर चक्र विजेता विंग कमांडर अभिनंदन वर्धमान एक ऐसा जाना माना नाम हैं जो किसी नाम  का मौहताज नहीं हैं।विंग कमांडर का नाम दुनिया ने वर्ष 2019 सुना था जब भारत ने पाकिस्तान के बालाकोट में स्थित आतंकी कैंपों पर एयर स्ट्राइक की थी।27 फरवरी 2019 को उन्‍होंने अपने मिग-21 लड़ाकू विमान से पाकिस्‍तान के आधुनिक एफ-16 लड़ाकू विमान को मार गिराया था। यह एक ऐसी घटना हुई थी जिससे पूरे देश में तहलका मच गया था। इस एयर स्‍ट्राइक के बाद पाकिस्‍तान ने न तो कभी ये कबूला कि उसका कोई जेट इस तरह से मार गिराया गया और न ही इसमें पायलट की मौत की बात ही कबूल की थी। हालांकि, स्‍थानीय रिपोर्ट में इस बात का जिक्र जरूर सामने आया था। पाकिस्‍तान ने कभी ये भी नहीं कबूला कि बालाकोट में आतंकी कैंप मौजूद हैं।

 

वीडियो ने खोल दिए राज

इस एयर स्‍ट्राइक के दौरान वर्धमान का जेट दुर्घटनाग्रस्‍त हो गया था और उन्‍हें गिरफ्तार कर लिया गया था। 28 फरवरी को पाकिस्‍तान वर्धमान को सही सलामत छोड़ने पर राजी हुआ था। हालांकि, इसका एलान करते हुए पाकिस्‍तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने सदन में इसको पाकिस्‍तान का दोस्‍ताना रवैया बताया था, जबकि हकीकत ये थी कि पाकिस्‍तान इस बात से घबरा गया था कि यदि वर्धमान को नहीं छोड़ा गया तो उसका बुरा हाल होगा। ये बात अब पूरी तरह से दुनिया के सामने आ भी गई है। इस सच्‍चाई का एक वीडियो जबरदस्‍त वायरल हो रहा है, जो उसकी कलई को खोल रहा है।

 

हीरो ऑफ इंडिया 

बहरहाल, बालाकोट एयर स्‍ट्राइक के बाद विंग कमांडर वर्धमान देश के लिए एक हीरो बन गए। उनकी पहचान एक ऐसे जांबाज फौजी के रूप में है जिसने पाकिस्‍तान की यातनाएं तो सही लेकिन अपना मुंह नहीं खोला। जिस वक्‍त उनको गिरफ्तार कर बेस कैंप लाया गया और उनसे सवालात किए गए उस वक्‍त उनके द्वारा कहा गया एक जवाब भारतीयों की जुबान पर चढ़ गया। उन्‍होंने पाकिस्‍तान सेना के अधिकारी को कहा था कि Sorry, I am not supposed to telling you anything. ये जवाब उन्‍होंने उन्होंने तब दिया था जब पाक अधिकारी ने उनसे पाकिस्‍तान में इस तरह से दाखिल होने का मकसद और उनके मिशन के बारे में पूछा था।

 

यह भी पढें :बल्लभगढ़ः नाम बदल कर तौसीफ ने की थी निकिता से दोस्ती, सहेली ने किए बड़े खुलासे

60 घंटों के बाद हुई थी रिहाई 

1 मार्च 2019 को विंग कमांडर अभिनंदन को पाकिस्‍तान ने 60 घंटों के बाद वाघा सीमा पर भारत की सीमा सुरक्षा बल को सौंप दिया था। इस पूरे वाकये को करोड़ों लोगों ने टीवी पर देखा था। भारत को सौंपे जाने के बाद उनका मेडिकल चेकअप कराया गया। इसमें उनके शरीर पर यातनाएं दिए जाने की बात सामने आई। इस दौरान उनसे तत्‍कालीन रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण ने भी अस्‍पताल में मुलाकात की। कुछ ही समय के बाद बंगलुरू के इंस्टिट्यूट ऑफ एयरोस्‍पेस मेडिसिन ने उन्‍हें पूरी तरह से फिट होने का प्रमाण पत्र दिया। इसमें ये भी कहा गया कि वो लड़ाकू विमान उड़ाने के लिए पूरी तरह से फिट हैं। बालाकोट एयर स्‍ट्राइक के बाद उनकी पोस्टिंग श्रीनगर एयरबेस से बदल कर वेस्‍टर्न एयर कमांड, राजस्‍थान में कर दी गई। वह इससे पहले श्रीनगर की 51वी स्‍क्‍वार्डन का हिस्‍सा थे और बेस पर डिप्‍टी फ्लाइट कमांडर थे। इसका अर्थ है कि वो श्रीनगर में तीसरे सबसे बड़े अधिकारी थे।

 

Edited by : MAMTA YADAV

प्रदेश की धड़कन, 'इंडिया जंक्शन न्यूज़' के ताजा अपडेट पाने के लिए जुड़ें हमारे फेसबुक पेज से...

Check Also

कल से देश में बदल जाएगें ये नियम,बड़े काम की हैं ये खबर

1 दिसंबर 2020  से भारत देश में कई बड़े बदलाव होने जा रहे हैं। जिसका …

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com