पीएम मोदी आज डिजिटल पेमेंट के लिए e-RUPI को करेंगे लॉन्च, जानें क्या हैं e-RUPI कैसे होगा इस्तेमाल

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज यानी 2 अगस्त को शाम 4.30 बजे वीडियो कॉन्फ्रेंस के माध्यम से e-RUPI लॉन्च करेंगे। e-RUPI, NPCI द्वारा विकसित एक प्रीपेड ई-वाउचर (e-Voucher) है. पीएम मोदी ने हमेशा डिजिटल इनिशिएटिव की हिमायत की है. इतना ही नहीं, लीक-प्रूफ तरीके से सभी लाभ लाभार्थियों तक पहुंचाने के लिए अब तक कई कार्यक्रम भी शुरू किए जा चुके हैं यह डिजिटल पेमेंट के लिए कैशलेस और कॉनटैक्ट लेस माध्यम है। PM मोदी ने रविवार को डिजिटल पेमेंट प्लेटफॉर्म ‘‘e-RUPI’’ के फायदे गिनाए और कहा कि डिजिटल टेक्नोलॉजी लोगों के जीवन में व्यापक बदलाव ला रहा है और इससे जीवन भी आसान बन रहा है।

जानिए क्या है ई-रुपी?
ई-रुपी को भारतीय राष्ट्रीय भुगतान निगम (NPCI) ने अपने यूपीआई प्लेटफॉर्म पर वित्तीय सेवा विभाग, स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय और राष्ट्रीय स्वास्थ्य प्राधिकरण के सहयोग से विकसित किया हैं। यह डिजिटल भुगतान के लिए पूरी तरह से एक कैशलेस और कॉन्टैक्टलेस साधन है। 

नेशनल पेमेंट्स कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया ने अपने UPI प्लेटफॉर्म पर वित्तीय सेवा विभाग, स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय और राष्ट्रीय स्वास्थ्य प्राधिकरण के सहयोग से इसे विकसित किया है. e-RUPI, बिना किसी फिजीकल इंटरफेस के डिजिटल तरीके से लाभार्थियों और सर्विस प्रोवाइडर के साथ सर्विस के स्पॉन्सर को जोड़ता है

कहाँ होगा इस्तेमाल
इसका इस्तेमाल आयुष्मान भारत प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना, फर्टिलाइजर सब्सिडी आदि जैसी योजनाओं के तहत मदर एंड चाइल्ड वेलफेयर स्कीम्स, टीबी उन्मूलन कार्यक्रमों, दवाओं और निदान के तहत दवाएं और पोषण सहायता प्रदान करने के लिए योजनाओं के तहत सर्विस देने के लिए भी किया जा सकता है. यहां तक ​​कि निजी क्षेत्र भी अपने कर्मचारी कल्याण और कॉर्पोरेट सामाजिक जिम्मेदारी कार्यक्रमों के हिस्से के रूप में इन डिजिटल वाउचर का लाभ उठा सकता है.

प्रदेश की धड़कन, 'इंडिया जंक्शन न्यूज़' के ताजा अपडेट पाने के लिए जुड़ें हमारे फेसबुक पेज से...

Check Also

BSNL अब अपने सभी पोस्टपेड प्लान के साथ इरोज नाउ सब्सक्रिप्शन प्रदान करेगी|

इरोज नाउ ने शुक्रवार को कंटेंट पार्टनरशिप के विस्तार की घोषणा की। इसने अपने प्रीपेड …