प्रियंका गांधी वाड्रा

बाल संरक्षण आयोग के नोटिस पर प्रियंका का जवाब- जो करना हो करें, मैं इंदिरा की पोती

लखनऊ। उत्‍तर प्रदेश के कानपुर जिले में शेल्टर होम में कई बच्चियों के कोविड-19 पॉजिटिव मिलने के मामले पर राजनीति गरमा गई है। घटना पर बीते दिन उत्तर प्रदेश बाल संरक्षण आयोग ने कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा को नोटिस भेजा था और आज सुबह प्रियंका गांधी ने इसपर जवाब दिया है। उन्‍होंने कहा कि वह इंदिरा गांधी की पोती हैं, कोई अघोषित भाजपा प्रवक्ता नहीं हैं।

यह भी पढ़ें: Google Photos ऐप का नया डिजाइन, अब मिलेंगे ये फीचर्स

कांग्रेस महासचिव प्रियंका ने अपने ट्विटर पर लिखा, ‘जनता के एक सेवक के रूप में मेरा कर्तव्य यूपी की जनता के प्रति है और वह कर्तव्य सच्चाई को उनके सामने रखने का है। किसी सरकारी प्रॉपेगेंडा को आगे रखना नहीं है। यूपी सरकार अपने अन्य विभागों द्वारा मुझे फिजूल की धमकियां देकर अपना समय व्यर्थ कर रही है।’

उन्‍होंने आगे लिखा, जो भी कार्यवाही करना चाहते हैं, बेशक करें। मैं सच्चाई सामने रखती रहूंगी। मैं इंदिरा गांधी की पोती हूं, कुछ विपक्ष के नेताओं की तरह भाजपा की अघोषित प्रवक्ता नहीं।

पूरा मामला पढ़िए

बता दें कि कानपुर के एक शेल्टर होम में बीते दिनों 57 लड़कियां कोरोना संक्रमित पाई गई थीं। इसके अलावा इनमें से करीब 6 लड़कियां गर्भवती भी थीं। इसी के बाद से प्रियंका गांधी इस मामले को उठा रही थीं।

बीते दिनों प्रियंका गांधी वाड्रा ने अपने फेसबुक पोस्ट में कानपुर शेल्टर होम में नाबालिग लड़कियों के गर्भवती होने और खासकर एचआइवी और हेपेटाइटिस सी के संक्रमित होने की बात कही थी। इसी को लेकर उत्‍तर प्रदेश के बाल संरक्षण आयोग ने नोटिस जारी किया था, जिसमें कहा गया था कि इस पोस्ट को तीन दिन के अंदर हटाएं, अन्यथा कानूनी एक्शन लिया जाएगा।

प्रदेश की धड़कन, 'इंडिया जंक्शन न्यूज़' के ताजा अपडेट पाने के लिए जुड़ें हमारे फेसबुक पेज से...

Check Also

कानपुर मुठभेड़: एक्शन मोड में प्रशासन, विकास दुबे का घर बुलडोजर से ध्वस्त, चौबेपुर SHO सस्पेंड

कानपुर। जिले में चौबेपुर के बिकरू गांव में सीओ समेत आठ पुलिसकर्मियों की हत्‍या करने …

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com