Breaking News
rahul gandhi
rahul gandhi

राहुल बने राष्ट्रीय अध्यक्ष,सोनिया गाँधी बोली हमारे सामने बड़ी चुनौती

पूर्व प्रधानमंत्री और पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष सहित कांग्रेस के सभी नेताओं की मौजूदगी में राहुल गांधी ने कांग्रेस की कमान संभाल ली है. इस मौके पर राहुल गांधी ने कहा कि वह आग लगाते हैं हम बुझाते हैं. उन्होंने कार्यकर्ताओं से कहा कि आप युवा हो बुजुर्ग हो हम आपको दिल से प्यार करेंगे. हम आने वाले समय में पार्टी को युवाओं की पार्टी बनाएंगे. राहुल ने कहा कि हम बीजेपी में भी अपने भाई और बहन देखते हैं चाहे हमारे उनके वैचारिक मतभेद रहे हों. इस मौके पर राहुल ने पीएम मोदी पर भी निशाना साधा और कहा कि पीएम देश को पीछे ले जा रहे हैं.

मनमोहन सिंह ने कहा आज का दिन कांग्रेस के लिए  ऐतिहासिक दिन

पूर्व प्रधानमंत्री डॉ. मनमोहन सिंह ने कहा कि यह कांग्रेस के लिए ऐतिहासिक दिन है. पूर्व प्रधानमंत्री ने कहा कि राहुल ने पूरे देश का दौरा किया है वह देश की समस्याओं कोे जानते हैं. उम्मीद है कि राहुल गांधी की अगुवाई में कांग्रेस नई ऊचाइयों को छुएगी.

राष्ट्रीय अध्यक्ष के रूप में सोनिया गाँधी का अंतिम भाषण

इसके बाद भूतपूर्व अध्यक्ष सोनिया गांधी ने भी हिंदी में भाषण देते हुए कहा कि आज वह आखिरी बार कांग्रेस अध्यक्ष के रूप में बोल ही हैं. इसके बाद पटाखों की गड़ग़ड़ाहट के बीच उन्होंने अपना भाषण रोक दिया और कहा कि इसको बंद करवाओ..लेकिन इसके बाद भी पटाखों की गड़गड़ाहट होती रही और राहुल गांधी ने उनको समझाया कि यह थोड़ी देर में रुक जाएगा. फिर थोड़ी देर बाद सोनिया गांधी ने कहा कि इसी तरह मैंने भी कांग्रेस की कमान संभाली थी और इस ऐतिहासिक संगठन को संभालने की चुनौती थी. सोनिया ने कहा कि जिस परिवार में आई थी वह एक क्रांतिकारी परिवार था और इंदिरा जी उसी क्रांतिकारी परिवार की बेटी थीं. इस परिवार के हर सदस्य का देश ही मकसद था. मैंने भारत के संस्कारों को इंदिरा गांधी जी से सीखा है. जब उनकी हत्या हुई तो मुझे लगा कि मेरी मां की हत्या की गई है.

ये भी पढ़े ~कांग्रेस अध्यक्ष के रूप में राहुल की ताजपोशी एक विरासत या चुनौती

सोनिया ने राजीव गांधी की याद करते हुए कहा कि फिर मेरे पति की हत्या कर दी गई और मेरा सहारा छीन लिया गया. मैं राजनीति से दूर रहना चाहती थी. मेरे यहां तक कि सफर में कांग्रेस के कार्यकर्ता हमारे हमसफर और मार्गदर्शक बने. हमने 10 सालों तक एक जिम्मेदार और प्रगतीशील सरकार दी जिसका नेतृ्त्व डॉ. मनमोहन सिंह ने पूरी ईमानदारी से किया. उन्होंने कहा कि हम 2014 से विपक्ष में हैं. हमारे सामने चुनौती है. हमारे संवैधानिक मूल्यों पर हमला किया है.

हम डरने वाले नही हैं. हमारा संघर्ष जारी रहेगा. सत्ता, शोहरत और स्वार्थ हमारा मकसद नहीं है. इस देश के मूल्यों की रक्षा करना हमारा मकसद है. हम सब जानते हैं कि हमारी मिली जुली संंस्कृति पर वार हो रहा है. इस बीच कांग्रेस को भी अपने अंर्तमन से जागकर आगे बढ़ना पड़ेगा. यह एक नैैतिक लड़ाई है. जिसमें जीत हासिल करने के लिए तैयार रहना पड़ेगा.

भयंकर शख्स का सामना कर राहुल बने निडर-सोनिया गाँधी

सोनिया गांधी ने कहा कि एक युवा नेतृ्त्व से पार्टी में नया जोश आएगा. उन्होंने कहा कि राहुल मेरा बेटा है उसकी तारीफ करना उचित नहीं है. लेकिन राजनीति में आने पर उसने एक ऐसे भयंकर शख्स का सामना किया जिससे वह निडर बन गया है.

कांग्रेस समर्थको ने करी पटाखे बाजी

कांग्रेस मुख्यालय के बाहर समर्थकों ने तमाम तरह के पोस्टर और होर्डिंग लगा दिए हैं. इनमें बधाई संदेश दिए जा रहे हैं.  एआईसीसी के दफ्तर के बाहर लोगों में गजब का उत्साह देखा जा रहा है. समर्थक और कार्यकर्ता पटाखे फोड़ रहे हैं और नारे लगा रहे हैं.

View image on Twitter

राहुल  के राष्ट्रीय अध्यक्ष बनने पर समर्थको ने बैनर पोस्टर में राहुल गाँधी को दूसरा गाँधी बताया

View image on Twitter

 समर्थको ने की आतिशबाजी,सोनिया ने रोका भाषण

 

सोनिया गांधी ने मार्च 1998 में पार्टी को नियंत्रण में लिया था वह 19 साल अध्यक्ष रहीं. सोनिया गांधी के रिटायर होने के बयान पर कांग्रेस नेता रेणुका चौधरी ने कहा है कि पार्टी कार्यकर्ताओं के लिए ये स्वीकार करना आसान नहीं होगा कि सोनिया गांधी राजनीति छोड़ देंगीं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*