राम जन्मभूमि – बाबरी मस्जिद विवाद पर समाधान खोजने पाए हुआ गठन

 

 

योग गुरु अधोक्षजानंद देव तीर्थ महाराज ने श्री – श्री रविशंकर को मध्यस्थता सिमिति से हटाये जाने का अनुरोध किया। पूर्व न्यायाधीश एफएमआई कलीफुल्ला ने 8 मार्च को राजनितिक और सवेदनशील मुद्दे राम जनम भूमि – बाबरी मस्जिद भूमि विवाद का सर्वमान्य समाधान खोजने पर चर्चा का गठन किया है।

 

SC ने आठ मार्च को राजनीतिक दृष्टि से संवेदनशील राम जन्म भूमि-बाबरी मस्जिद भूमि विवाद का सर्वमान्य समाधान खोजने के लिये पूर्व न्यायाधीश एफएमआई कलीफुल्ला की अध्यक्षता में तीन सदस्यीय मध्यस्थता समिति का गठन किया था.

 

अधोक्षजानंद देव तीर्थ महाराज ने कहा, ‘‘मैं मध्यस्थता समिति का गठन करके इस विवाद का सर्वमान्य समाधान निकालने के लिए सुप्रीम कोर्ट के विचार की सराहना करता हूं. मैं उनसे श्री श्री रविशंकर को बदलने का आग्रह करता हूं क्योंकि वह पहले एक समझौता फॉर्मूला के अपने मिशन में विफल रहे थे. इसलिए उन्हें दोनों पक्षों द्वारा गंभीरता से नहीं लिया जा सकता है.’’

उन्होंने कहा कि रविशंकर के साथ कोई शत्रुता नहीं है साथ ही वो बोले कि रविशंकर का समझौता फॉर्मूला दोनों समूहों को स्वीकार्य नहीं था. उन्होंने कहा, ‘‘मोदी को राम मंदिर के निर्माण के लिए एक विधेयक लाना चाहिए था क्योंकि लोगों ने उन्हें उत्तर प्रदेश और केन्द्र में बड़ा जनादेश दिया था।

प्रदेश की धड़कन, 'इंडिया जंक्शन न्यूज़' के ताजा अपडेट पाने के लिए जुड़ें हमारे फेसबुक पेज से...

Check Also

मैं नरेंद्र मोदी नहीं हूं, अनुभव की अनदेखी नहीं करूंगाः राहुल गांधी

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने कहा कि कांग्रेस को सोनिया गांधी और मनमोहन सिंह के …

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com