Breaking News
बलात्कार

चलती ट्रेन में 14 साल की बच्ची से बलात्कार का प्रयास

पुणे से मुंबई के बीच जाने वाली ट्रेन में एक नाबालिग बच्ची से बलात्कार का प्रयास किया गया . बच्ची को जैसे ही एहसास हुआ की उस आदमी की इरादे बेहद खतरनाक और गंदे है वैसे ही चिला पड़ी जिससे वो शक्श दर कर भगा और खुद को ट्रेन के बाथरूम में लॉक कर लिया. पुलिस के मुताबिक पीड़िता 14 साल की है। इस मामले में आरोपी की पहचान कर ली गई है।

 

ये भी पढ़े – बीजेपी सांसद ने कहा -बेटियों की इज्ज़त के साथ कोई खिलवाड़ नहीं बर्दास्त

 

33 साल के आरोपी का नाम अरविंद दत्ता है। गुरुवार (26 अप्रैल) को जब ट्रेन छत्रपति शिवाजी मुंबई टर्मिनल (CSMT) पहुंची तो पुलिस ने उसे गिरफ्तार कर लिया। जीआरपी के मुताबिक लड़की मुंबई आने वाली डक्कन क्वीन एक्सप्रेस से पुणे से अपने परिवार के साथ सफर कर रही थी। जीआरपी के एक अधिकारी ने बताया कि आरोपी ने कथित रूप से मटूंगा और दादर स्टेशनों के बीच लड़की को गलत जगह पर छुआ।

 

 

ये भी पढ़े – एक पिता का देश के प्रधानमंत्री से सवाल -क्या यही है बेटी बचाओ और बेटी पढ़ाओ

 

 

पुलिस के मुताबिक जैसे ही लड़की को एहसास हुआ कि उसे कोई छू रहा है वह जोर से चिल्ला पड़ी। इसके बाद ट्रेन में सफर कर रहे लोगों ने इस शख्स को पकड़ने की कोशिश की। लेकिन वह जल्दबाजी में भाग गया और ट्रेन के बाथरूम में खुद को लॉक कर दिया। चलती ट्रेन में लोगों ने आरोपी को बाथरूम से बाहर निकालने की कोशिश की। बाथरूम के दरवाजे पर धक्के दिये, लेकिन शख्स ने दरवाजा नहीं खोला। अधिकारी ने कहा, “जैसे ही ट्रेन CSMT पहुंची, लड़की के परिवार वालों ने घटना की जानकारी जीआरपी को दी, जीआरपी वालों ने दत्ता को बाथरुम से बाहर निकलने पर मजबूर किया और उसे गिरफ्तार कर लिया।”

 

 

जीआरपी ने बताया कि अरविंद दत्ता को आईपीसी की धारा-354 A (लड़की  की लज्जा भंग करने के आशय से उस पर हमला या आपराधिक बल का प्रयोग) और पोक्सो कानून की विभिन्न धाराओं के तहत बुक कर लिया गया है। इस मामले में जीआरपी ने आगे की जांच शुरू कर दी है। जीआरपी इस बात की जांच कर रही है कि कहीं इस शख्स का आपराधिक इतिहास तो नहीं रहा है। लड़की के परिवार वालों ने आरोपी को कड़ी सजा देने की मांग की है। उनका कहना है कि रेलवे को ट्रेनों की सुरक्षा और भी चुस्त-दुरुस्त करनी चाहिए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*