Breaking News
aadhar_card_

‘आधार’ बिना ना मिला राशन: भूख से मर गई 11 साल की बच्ची

मंत्री ने कहा कि मुख्य सचिव का निर्देश सुप्रीम कोर्ट के आदेश का अवमानना है  सरयू राय बोले कि बीते दिनों मुख्य सचिव राजबाला बर्मा ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए उन लोगों के राशन कार्ड रद्द करने का निर्देश दिया था जिनके पास आधार कार्ड नहीं था. इंडियन एक्सप्रेस की खबर के मुताबिक, सरयू राय ने कहा कि मैंने अपने अधिकारियों से अपील की थी कि आधार लिंक ना होने की वजह से किसी का राशन कार्ड रद्द ना किया जाए. घटना के बाद से ही राज्य की रघुवर दास सरकार की कड़ी आलोचना की जा रही है. परिवार के अनुसार, क्योंकि उनका राशन कार्ड गुम हो गया था इसी वजह से उन्हें खाना नहीं मिल पाया और बच्ची की मौत हो गई.

ये भी पढ़े ~काम ना मिलने पर 2 हज़ार रुपए में 3 माह की बच्ची को बेचने चली ये मां…

संतोषी एक बेहद गरीब परिवार से ताल्लुक रखती थी तथा गरीबी के कारण उसे पढ़ाई छोड़ बकरी चराने पर विवश होना पड़ा था. बकरी चराने के एवज में उसे एक शाम का खाना मिल जाता था लेकिन बीमार होने के कारण वह बकरी चराने नहीं जा पा रही थी जिसके वजह से उसे एक शाम का भी खाना नसीब नहीं हुआ.सिमडेगा के सुदूरवर्ती प्रखंड जलडेगा में गरीबी से त्रस्त 11 साल की संतोषी की पिछले दिनों मौत हो गयी थी.उसके परिवार को पिछले 7 महीनों से राशन का अनाज नहीं मिला था. राशन डीलर की लापरवाही से उसका राशन कार्ड गुम हो गया था और  उसका दूसरा राशन कार्ड नहीं बन पाया था.

क्योंकि सुप्रीम कोर्ट ने अपने आदेश में ये कहा था की आधार नहीं होने से सरकार किसी को राशन का लाभ से वंचित नहीं कर सकती. साथ ही उन्होंने कहा कि विभागीय मंत्री होने के बाद भी मेरे बात नहीं सुनी जाती है.

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*