लॉकडाउन में जा रहे हैं रेस्टोरेंट, तो इन बातों का रखें ख़ास ध्यान

नई दिल्ली : काफी समय से लोग लॉकडाउन की वजह से पिछले दो महीने से अपने घरों में बंद थे। लॉकडाउन के दौरान करीब दो महीने तक बंद रहने के बाद देश में शॉपिंग मॉल, धार्मिक स्थल, होटल और रेस्तरां फिर से खुल गए हैं, जिनमें नए नियमों के तहत प्रवेश के लिए टोकन प्रणाली जैसी प्रणालियां होंगी, वहीं मंदिरों में ‘प्रसाद’ आदि का वितरण नहीं होगा। हालांकि कोरोना वायरस संक्रमण के बढ़ते मामलों के बीच इन सबके खुलने से नई चुनौतियां सामने आ सकती हैं। बता दें कि देश में 1 जून से अनलॉक 1.0 शुरु हो गया है। जबकि लॉकडाउन सिर्फ कंटेनमेंट जोन में 30 जून तक लागू है।

– कम बुखार या गले में खराश जैसे हल्के लक्षण होने पर भी लोग बाहर जाकर खाने का लुत्फ उठा ही लेते हैं। लेकिन, जरा सी लापरवाही आपकी और दूसरों की सेहत के लिए आफत बन सकती है। इसलिए जरा से लक्षण दिखने पर भी बाहर जाने से परहेज करें।
– बगल टेबल में बैठे गेस्ट से टिश्यू पेपर या नमक मांगने से बचे।
– किसी बाहरी या अंजान शख्स के साथ खाना ना खाये। साथ ही जो लोग 6 फीट की निश्चित दूरी पर ना बैठे हों या मुंह को मास्क से कवर ना करें, उनके साथ भी खाने से परहेज करना       चाहिए।
– ऐसे रेस्टोरेंट ही जाये जहां दरवाजे पर शरीर का टेंपरेचर जांचने की सुविधा हो। एंट्री गेट पर ही मास्क, हैंड वॉश और सोशल डिस्टेंसिंग से जुड़ी गाइडलाइंस का सख्ती से पालन किया जाए।
– कोरोना काल में रेस्टोरेंट धीरे-धीरे लोगों के लिए स्पेस बना रहे हैं। पहले फेज में हो सकता है कि रेस्टोरेंट में सिर्फ 25 प्रतिशत सिटिंग स्पेस ही उपलब्ध हो और बाद में इसे धीरे-धीरे बढ़ाया जाए।
– ऑनलाइन बुकिंग के जरिए बुला सकते हैं, ताकि वहां एकदम से लोगों की भीड़ इकट्ठा ना हो पाए।

प्रदेश की धड़कन, 'इंडिया जंक्शन न्यूज़' के ताजा अपडेट पाने के लिए जुड़ें हमारे फेसबुक पेज से...

Check Also

कोविड -19

लगातार 37 दिन एक लाख से काम नए कोविड मामले, 581 मौते हुई दर्ज

केंद्रीय स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय ने गुरुवार को कहा कि भारत में पिछले 24 …