समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव का बीजेपी पर वार,कही ये बात …

समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष ने पहली बार गोरखपुर और फूलपुर लोकसभा उपचुनाव में बसपा के साथ गठबंधन के लिए पर्दे के पीछे हुई जोड़ तोड़ की कहानी बताते हुए कहा कि पार्टी नेता गठबंधन चाहते थे, साथ ही काडर और वोटर भी दोनों पार्टियों के गठबंधन के पक्ष में थे.

 

ये  भी पढ़े -बीजेपी विधायक कुलदीप सिंह सेंगर की हुई गिरफ़्तारी

 

उन्होंने कहा, ‘पहले बात बैक चैनल के जरिए ही शुरू हुई और फिर मैंने मायावतीजी से फोन पर बात की. फिर हमने कांग्रेस के निमंत्रण पर दिल्ली में बैठक के दौरान एक साथ एक ही टेबल पर खाना खाया, जहां बहुत सारी बातें हुईं, जिसको बताना जरूरी नहीं है. क्योंकि बीजेपी बहुत ही होशियार पार्टी है.

 

बसपा के साथ अपनी पिछली कड़वाहटों को भुलाने के सवाल पर अखिलेश ने कहा कि समाजवादी पार्टी की स्थापना मुलायम सिंह यादव ने की थी, लेकिन अब यह एक नई पार्टी है. गठबंधन की मजबूती के लिए हमें अपना पिछला इतिहास भूलना होगा.

 

बता दें कि 2 जून 1995 के कुख्यात गेस्ट हाउस कांड के बाद सपा और बसपा के रिश्ते कभी भी सहज नहीं रहे. 1993 में बाबरी मस्जिद विध्वंस कांड के बाद बीजेपी को रोकने के लिए कांशीराम और मुलायम सिंह के बीच गठबंधन हुआ था और दोनों पार्टियों ने यूपी की सत्ता पर कब्जा जमाया था.

प्रदेश की धड़कन, 'इंडिया जंक्शन न्यूज़' के ताजा अपडेट पाने के लिए जुड़ें हमारे फेसबुक पेज से...

Check Also

प्रधानमंत्री ने इस गंभीर समस्या को लेकर छेड़ी मुहीम

  नरेंद्र मोदी ने तपेदिक मुक्त भारत के लिए अपनी प्रतिबद्धता दोहराते हुए कहा है …

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com