Breaking News

पति के अंतिम संस्कार में शामिल होने के लिए शशिकला को मिली 15 दिनों की पेरोल

आय से अधिक संपत्ति मामले में बेंगलुरु की जेल में बंद  वीके शशीकला को पति के अंतिम संस्कार में शामिल होेने के लिए 15 दिनों की पेरोल मिल गई है. पेरोल मिलने के बाद शशिकला पति के अंतिम संस्कार में शामिल होने के लिए तंजावुर जाएंगी. कयास लगाए जा रहे हैं कि अंतिम संस्कार में शामिल होने के लिए शशिकला निजी वाहन का इस्तेमाल कर सकती हैं. बता दें कि सोमवार देर रात शशिकला के पति नटराजन मरुथप्पा का चेन्नई के ग्लेनैगल्स ग्लोबल अस्पताल में निधन हो गया था.

 

 

पति की मौत के बाद दी थी पेरोल याचिका
पति नटराजन की मौत के बाद शशिकला के वकील ने याचिका दायर करते हुए पेरोल की मांग की थी. परिस्थितियों को जांच परखने के बाद प्रशासन की ओर से शशिकला को तुरंत पेरोल दे दी गई. रिपोर्ट्स के मुताबिक शशिकला पति के अंतिम संस्कार में शामिल होने के लिए बेंगलुरू जेल से निकल चुकी हैं.

पांच दिन पहले अस्पताल में भर्ती हुए थे नटराजन
ग्लेनैगल्स ग्लोबल अस्पताल के चीफ ऑपरेशन ऑफिसर सनमुगा प्रियान (Shanmuga Priyan) की ओर से मिली जानकारी के मुताबिक छाती में संक्रमण की समस्या के बाद नटराजन को पांच दिन पहले भर्ती कराया गया था. इलाज के दौरान भी उनकी हालत नहीं सुधरी. डॉक्टर्स के मुताबिक नटराजन आईसीयू में भर्ती थे और वेंटिलेटर पर थे. डॉक्टरों ने बताया कि पिछले साल अक्टूबर में नटराजन का लीवर और किडनी का प्रत्यारोपण किया गया था.

2017 में पार्टी ने किया था निष्कासित
गौरतलब है कि आय से अधिक संपत्ति मामले में वीके शशिकला बेंगलुरु के सेंट्रल जेल में चार साल सजा काट रही हैं. इसी साल फरवरी में ओ पनीरसेल्वम के खेमे ने अन्नाद्रमुक महासचिव वीके शशिकला और उनके दो संबंधियों को पार्टी के सिद्धांतों और आदर्शों के खिलाफ जाने के लिए पार्टी से हटा दिया था. शशिकला की ओर से प्रेसिडियम चेयरमैन पद से हटाए गए ई मधुसूदन ने एक वक्तव्य में कहा था कि शशिकला ने दिवंगत जयललिता से वादा किया था कि वह राजनीति में नहीं आएंगी और सरकार या पार्टी का हिस्सा बनने में उनकी कोई दिलचस्पी नहीं है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*