DWC का सत्याग्रह, बलातकारियों के लिए मांगी ये सजा

आठ माह की बच्ची से दुष्कर्म के बाद अब दिल्ली महिला आयोग ने विरोध स्वरूप दिन-रात काम करने का फैसला किया है। छोटी बच्चियों के साथ बलात्कारियों को फांसी की सजा दिलाने की मांग को लेकर आयोग ने तीस दिन के लिए सत्याग्रह शुरू किया है। दिल्ली महिला आयोग की अध्यक्ष स्वाति मालीवाल ने कहा कि इस वारदात के बाद सो नहीं पाई हूं। ऐसा लग रहा है जैसे बच्ची का बलात्कार नहीं आयोग और सिस्टम का बलात्कार हुआ है

ये भी पढ़ें ~ नई दिल्‍ली में दर्दनाक हदशा नर्सरी क्‍लास के बच्‍चे का किया अपहरण

 

उन्होंने घोषणा की कि आयोग सत्याग्रह शुरू कर रहा है। वह और उनकी टीम अगले 30 दिन तक घर नहीं जाएगी। विरोध स्वरूप दिन-रात काम किया जाएगा। आयोग ने अपनी कुछ मांगें राज्य एवं केंद्र के सामने रखी हैैं। छ: माह के अंदर बलात्कारी को सजा हो, ट्रायल प्रतिदिन हो, फास्ट ट्रैक कोर्ट का गठन हो, दिल्ली पुलिस में पुलिस कर्मियों की कमी को दूर की जाए, पुलिस का उतरदायित्व तय करने के लिए सॉफ्टवेयर तैयार किया जाए, अभियोजन विभाग में सुधार किया जाए।

ये भी पढ़ें ~ उत्तर प्रदेश में बदमाशों के हौसले हो रहे है बुलंद, मलीहाबाद में डीजीपी दौरे के 6 घंटे बाद ही किया दोबारा हमला

उन्होंने राज्य व कें द्र सरकारों को इन मांगों पर फैसला लेने के लिए 30 दिन का समय दिया है। उन्होंने कहा कि महिलाओं, पुरुषों को इस सत्याग्रह से जोड़ते हुए 1 लाख हस्ताक्षर लेकर प्रधानमंत्री को भेजे जाएंगे। स्वाति ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से छोटी बच्चियों के साथ बलात्कार की घटनाओं पर संज्ञान लेने की अपील की। उन्होंने कहा कि प्रधान मंत्री इस मामले में व्यक्तिगत ध्यान नहीं देंगे तब तक देश में कुछ भी नहीं बदलेगा।

प्रदेश की धड़कन, 'इंडिया जंक्शन न्यूज़' के ताजा अपडेट पाने के लिए जुड़ें हमारे फेसबुक पेज से...

Check Also

अरविंद केजरीवाल ने मनोज तिवारी को कहा नाचने वाला, दिल्ली बीजेपी अध्यक्ष ने बताया इसे- पूर्वांचलियों का अपमान

दिल्ली में 12 मई को लोकसभा चुनाव होने वाले हैं और उससे पहले नेताओं में …

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com