Breaking News

लखनऊ-मदरसे में चल रहा था यौन शोषण गेम,पुलिस ने छापेमारी कर 51 लडकियों को छुड़ाया

राम रहीम पर बलात्कार का आरोप साबित होने के बाद फर्जी बाबाओं को लेकर देशभर में रोष व्याप्त है. ढोंगी बाबाओं के चंगुल से बचने के लिए लोगों को सलाह दी जा रही है. वहीँ ऐसे बाबाओं को सबक सिखाने की बात भी हो रही है. राम रहीम को साध्वी के साथ बलात्कार के आरोप में सजा सुनाई गई थी. वहीँ बीते दिनों दिल्ली के दूसरे फर्जी बाबा देवेन्द्र देव दीक्षित की काली करतूत सामने आई थी और अब राजधानी लखनऊ में मदरसे की काली सच्चाई ने सभी के होश उड़ा दिए हैं. बता दें कि यहाँ मदरसे (मदरसा यौन शोषण केस) के नाम पर पढ़ने वाली लड़कियों के साथ ऐसी अश्लील हतकत की जारी थी.

मदरसे में हो रहा था यौन शोषण

शुक्रवार शाम को सआदतगंज थाना क्षेत्र के यासीनगंज में स्थित जामिया ख़दीजातुल लीलनवात मदरसे की काली करतूत का हैरान करने वाला खुलासा हुआ है. यहाँ बालिकाओं के साथ हो रहे घिनौने खेल ने शिक्षा विभाग को शर्मसार कर दिया है.

मदरसे के प्रबंधक ने पूरे सिस्टम पर सवालिया निशान लगा दिया है. शिक्षा के मंदिर में चल रहे लड़कियों के साथ यौन शोषण के इस घिनौने काम का खुलासा होने के बाद अभिभावकों में आक्रोश व्याप्त है. वह अपने बच्चों को मदरसे में भेजने से घबरा रहे हैं. लोगों ने आरोपियों के खिलाफ कठोर कार्रवाई करने की मांग की है.

ये भी पढ़े ~उत्तर प्रदेश के आगरा में मुर्दों ने की दो युवतियों से छेड़ छाड़

एसएसपी दीपक कुमार ने बताया कि उन्हें मदरसे (मदरसा यौन शोषण केस) में पढ़ने वाली छात्राओं यौन शोषण किये जाने की शिकायत मिली थी. शिकायत को गंभीरता से लेते हुए उन्होंने पुलिस टीम के साथ सआदतगंज थाना क्षेत्र के यासीनगंज में स्थित मदरसा जामिया ख़दीजातुल लीलनवात में छापा मारा.

छापेमारी से मदरसे में मचा हडकंप

पुलिस टीम ने मदरसे में पढ़ने वाली 51 छात्राओं को मुक्त करवाया. एसएसपी ने बताया कि मदरसे में कुल 125 लड़कियां पढ़ती हैं. मदरसे पर ACM और ADM और महिला उप निरीक्षक के द्वारा सभी लड़कियों का बयान लिया गया है. इस दौरान चाइल्ड वेलफेयर कमेटी और DPO को सूचित कर दिया गया है. छात्राओं ने आरोप लगाया है कि मदरसे का प्रबंधक और संचालक मो. तैयब जिया सभी का यौनशोषण कर रहा था. पुलिस ने आरोपी संचालक को गिरफ्तार कर लिया है. आरोपी से पुलिस पूछताछ कर रही है.

पुलिस का सराहनीय कार्य

एसएसपी दीपक कुमार का ये सराहनीय गुडवर्क कहा जा रहा है. बताया जा रहा है कि सभी लड़कियां काफी समय से यहां बंधक बनाकर रखी जा रही थीं, लेकिन एसएसपी ने एक शिकायत पर छापेमार कार्रवाई कर सभी को छुड़ा लिया. बताया जा रहा है कि प्रबंधक लड़कियों को अकेले कमरे में बुलाकर उनके साथ गलत काम करता था.

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*