राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप

अमेरिका में शांति पाठ से स्वास्थ्य की कामना, राष्ट्रपति ट्रंप ने खुद दी सलाह

वर्ल्‍ड डेस्‍क। वैश्विक महामारी कोरोनावायरस की सबसे ज्‍यादा मार अमेरिका झेल रहा है। ऐसे में राष्ट्रीय प्रार्थना दिवस के मौके पर व्हाइट हाउस के रोज गार्डन में एक हिंदू पुजारी ने पवित्र वैदिक शांति पाठ कराया। प्राप्‍त जानकारी के मुताबिक, इस शांति पाठ की सलाह खुद राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने दी थी और यह कोरोना वायरस वैश्विक महामारी से प्रभावित हर व्यक्ति के स्वास्थ्य, सुरक्षा और कुशलता के लिए कराया गया है।

यह शांति पाठ पूरे हिंदू रीति-रिवाजों के साथ संपन्न कराया गया और इसके दौरान राष्‍ट्रपति ट्रंप भी मौजूद रहे। शांति पाठ के लिए अमेरिकी राष्ट्रपति ने खुद न्यू जर्सी के बीएपीएस स्वामीनारायण मंदिर के पुजारी हरीश ब्रह्मभट्ट को आमंत्रण भेजा था। प्रार्थना करने के लिए हरीश ब्रह्मभट्ट के साथ अन्य धर्मों के नेता भी मौजूद रहे।

यह भी पढ़ें: औरंगाबाद हादसा: घर के लिए पैदल निकले मजदूर, आराम करने रुके, ट्रेन ने रौंद दिया

ब्रह्मभट्ट ने रोज गार्डन मंच से अपनी संक्षिप्त टिप्पणी में कहा, कोविड-19, सामाजिक दूरी और लॉकडाउन के इस मुश्किल भरे समय में, लोगों का बेचैनी या अशांति महसूस करना असामान्य नहीं है। शांति पाठ ऐसी प्रार्थना है, जिसमें दुनिया भर की शोहरत, सफलता, नाम की गुजारिश नहीं होती, न ही यह स्वर्ग जाने की इच्छा के लिए की जाती है। उन्होंने प्रार्थना करने से पहले कहा कि यह शांति के लिए खूबसूरत हिंदू प्रार्थना है। यह यजुर्वेद से ली गई वैदिक प्रार्थना है।

ब्रह्मभट्ट ने रोज गार्डन में शांति पाठ के दौरान संस्कृत में श्लोक पढ़ें और इसके बाद उन्होंने इस प्रार्थना का अंग्रेजी में अनुवाद किया। उन्‍होंने कहा, यह प्रार्थना स्वर्ग में शांति की बात करती है। धरती और आसमान में, जल में, पेड़-पौधों पर शांति, फसलों पर शांति हो। ब्रह्म पर शांति से लेकर हर जगह शांति हो और ईश्वर करे कि हम यह शांति महसूस कर सकें। ओम शांति, शांति, शांति।

यह भी पढ़ें: तैयार हो जाएं 11वीं और 12वीं के छात्र, इस दिन होगी परीक्षा

प्रार्थना कराने के लिए राष्‍ट्रपति डोनाल्‍ड ट्रंप ने ब्रह्मभट्ट का शुक्रिया अदा किया। अपनी टिप्पणी में उन्‍होंने कहा कि राष्ट्रीय प्रार्थना दिवस के दिन, अमेरिका बेहद भयावह बीमारी के खिलाफ उग्र जंग में उलझा हुआ है। इतिहास में भी, हर प्रकार के चुनौतीपूर्ण समय में अमेरिकियों ने धर्म, आस्था, प्रार्थना और ईश्वरीय शक्ति पर भरोसा किया है। प्रथम महिला मेलानिया ट्रंप ने कोरोना के कारण अपने प्रियजनों को गंवाने वाले परिवारों के प्रति सहानुभूति व्यक्त की।

प्रदेश की धड़कन, 'इंडिया जंक्शन न्यूज़' के ताजा अपडेट पाने के लिए जुड़ें हमारे फेसबुक पेज से...

Check Also

कोरोना से प्रभावित टॉप 10 देशों में भारत, टेस्टिंग में सातवें नंबर पर

नई दिल्‍ली। वैश्विक महामारी कोरोना वायरस के नए मामलों ने अब भारत में भी रफ्तार …

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com