Breaking News
जेपी डुमिनी

दक्षिणअफ्रीका के क्रिकेटर जेपी डुमिनी ने सबसे लंबे प्रारूप टेस्टऔर प्रथम श्रेणी क्रिकेट से लिया संन्यास

दक्षिण अफ्रीका के क्रिकेट स्टार जेपी डुमिनी ने क्रिकेट के सबसे लंबे प्रारूप टेस्ट और प्रथम श्रेणी क्रिकेट से संन्यास ले लिया है। डुमिनी 2019 वर्ल्ड कप के साथ-साथ सीमित ओवर क्रिकेट पर अपना ध्यान लगाना चाहते हैं। वो टी20 और वन-डे क्रिकेट खेलना जारी रखेंगे। सीमित ओवरों के लिए अपनी फिटनेस बरकरार रखने के इरादे से डुमिनी ने तुरंत प्रभाव से टेस्ट क्रिकेट और प्रथम श्रेणी क्रिकेट से संन्यास लेने का फैसला किया है।

ये भी पढ़े – 100 करोड़ का करार किया MRF के साथ,कमाई का सरताज बना ये खिलाड़ी.

इंडिपेंडेंट मीडिया से शुक्रवार को बातचीत करते हुए डुमिनी ने अपने भविष्य की योजना के बारे में खुलकर बातें की। उन्होंने कहा, ‘मुझे पता है कि मेरा करियर अभी खत्म होने से दूर है और मेरी उम्मीद है कि क्रिकेट दक्षिण अफ्रीका, डब्लूएसबी कैप कोबराज, टीम के साथियों, परिवार, दोस्तों और समर्थकों का साथ मिलेगा। मुझे यह मौका मिला कि जिस खेल से सबसे ज्यादा प्यार करता हूं, उसमें अपना सर्वश्रेष्ठ करने का मौका मिला।’

डुमिनी ने आगे कहा-

‘मैंने लंबे समय तक सोचने के बाद टेस्ट क्रिकेट और प्रथम श्रेणी क्रिकेट से तुरंत संन्यास लेने का फैसला किया है। मैंने अपने देश का 46 टेस्ट में प्रतिनिधित्व किया और इस समय का भरपूर आनंद उठाया। इसके अलावा पिछले 16 सालों में कैप कोबराज के लिए 108 प्रथम श्रेणी मैच खेलने का मौका मिला। मैं इसका भी शुक्रगुजार हूं क्योंकि मैंने हर पल का आनंद उठाया।

पिछले कुछ समय से प्रोटियाज टेस्ट टीम के सीनियर खिलाड़ियों में से एक थे

डुमिनी पिछले कुछ समय से प्रोटियाज टेस्ट टीम के सीनियर खिलाड़ियों में से एक थे। बता दें कि डुमिनी ने 2008 में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ अपने टेस्ट करियर का डेब्यू किया था। डुमिनी ने बेहतरीन बल्लेबाजी करते हुए पहली पारी में अर्धशतक जबकि दूसरी पारी में 166 रन की पारी खेली थी। डुमिनी ने दक्षिण अफ्रीका के लिए अपना आखिरी टेस्ट इंग्लैंड के खिलाफ इस साल लॉर्ड्स क्रिकेट ग्राउंड पर खेला था, जहां प्रोटियाज टीम को 211 रन की शिकस्त झेलना पड़ी थी।
जेपी डुमिनी ने 46 टेस्ट में 32.85 की औसत और 6 शतक व 8 अर्धशतकों की मदद से 2103 रन बनाए। उनका सर्वश्रेष्ठ स्कोर 166 रन रहा। वहीं गेंदबाजी में उन्होंने 42 विकेट चटकाए। इसके अलावा प्रथम श्रेणी में डुमिनी ने 108 मैचों में 46।08 की औसत से 6774 रन बनाए। इस दौरान उन्होंने 20 शतक जबकि 30 अर्धशतक जमाए। उनका बेस्ट स्कोर 260* रहा। गेंदबाजी में डुमिनी ने 77 विकेट चटकाए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*