Breaking News

उत्तर प्रदेश में आंधी तोफान का कहर, बीते शुकरवार 15 की मौत 9 हुए घायल

उत्तर प्रदेश में दिन प्रति दिन गर्मी के बढ़ते प्रकोप से आखिर लोगों को छुटकारा तो मिल गया लेकिन वही दूसरी और मौसम की ये करवट कई लोगों के लिए दुखद साबित हुई है. दरसल बीते शुकरवार को करीब 100 किलोमीटर प्रति घंटा की रफ्तार से चली धूल भरी आंधी ने जमकर कहर बरपाया। आंधी से जहां कई जगह पेड़, होर्डिंग और बैनर के गिरने से यातायात प्रभावित हो गया, वहीं कई इलाकों की बिजली व्यवस्था चौपट हो गई।

 

ये भी पढ़े – उत्तर प्रदेश समेत कई राज्यों में अंधी तूफ़ान, 41 लागों की हुई मौत

 

बताया जा रहा है कि किसी टावर के गिरने के कारण बरेली मंडल के अलावा रामपुर और उत्तराखंड के कुछ इलाकों में ब्लैकआउट हो गया। आंधी-बारिश के बाद देर रात तक फॉल्ट ढूंढने के प्रयास होते रहे। सरकार की ओर से जारी रिपोर्ट के अनुसार प्रदेश के अलग-अलग हिस्सों में आंधी के चलते करीब 15 लोगों की जान चली गई, जबकि 9 लोग घायल हो गए।

 

इनमें ज्यादातर लोगों की मौत पेड़ के नीचे दबकर हुई। नुकसान की जानकारी जिन जनपदों से हासिल हुई है, उनमें मुरादाबाद (7 मौत, 3 घायल), मुजफ्फनगर (2 मौत, 2 घायल), मेरठ (2 मौत), अमरोहा (1 मौत, 4 घायल) और संभल (3 मौत) शामिल हैं।दिन भर भीषण गर्मी और उमस के बाद शुक्रवार रात अचानक मौसम बदल गया। करीब 100 किलोमीटर प्रति घंटा की रफ्तार से चली धूल भरी आंधी ने जमकर कहर बरपाया।

आंधी से जहां कई जगह पेड़, होर्डिंग और बैनर के गिरने से यातायात प्रभावित हो गया, वहीं कई इलाकों की बिजली व्यवस्था चौपट हो गई। बताया जा रहा है कि किसी टावर के गिरने के कारण बरेली मंडल के अलावा रामपुर और उत्तराखंड के कुछ इलाकों में ब्लैकआउट हो गया। आंधी-बारिश के बाद देर रात तक फॉल्ट ढूंढने के प्रयास होते रहे।

 

सरकार की ओर से जारी रिपोर्ट के अनुसार प्रदेश के अलग-अलग हिस्सों में आंधी के चलते करीब 15 लोगों की जान चली गई, जबकि 9 लोग घायल हो गए।इनमें ज्यादातर लोगों की मौत पेड़ के नीचे दबकर हुई। नुकसान की जानकारी जिन जनपदों से हासिल हुई है, उनमें मुरादाबाद (7 मौत, 3 घायल), मुजफ्फनगर (2 मौत, 2 घायल), मेरठ (2 मौत), अमरोहा (1 मौत, 4 घायल) और संभल (3 मौत) शामिल हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*