किसान नेता ने बताया कब जायंगे किसान वापस |

प्रधानमंत्री के एलान के बाद किसान नेता राकेश टिकैत का कहना था की जब तक संवैधानिक तरीके से बिल की वापसी नहीं होगी वो वापस नहीं जायंगे , लेकिन अब उन्होंने कहा है की अगर सरकार 26 जनवरी से पहले उनकी सारी मांगे मान ले तो वे दिल्ली की सीमाएं छोड़कर वापिस अपने घरों को लौट जाएंगे.उन्होंने कहा कि ये तभी होगा जब सरकार एमएसपी और आंदोलन के दौरान मरने वाले किसानों के मुद्दे का हल भी करे.

उन्होंने कहा, “सरकार ने घोषणा की है तो वो प्रस्ताव ला सकते हैं लेकिन MSP और 700 किसनों की मृत्यु भी हमारा मुद्दा है। सरकार को इसपर भी बात करनी चाहिए। 26 जनवरी से पहले तक अगर सरकार मान जाएगी तो हम चले जाएंगे। चुनाव के विषय में हम चुनाव आचार संहिता लगने के बाद बताएंगे.” दिल्ली की अलग-अलग सीमाओं पर पंजाब, हरियाणा, उत्तर प्रदेश और राजस्थान के किसान बीते लगभग एक साल से प्रदर्शन कर रहे हैं.वे केंद्र सरकार द्वारा बनाए गए तीन खेती क़ानूनों का विरोध कर रहे थे. अब प्रधानमंत्री मोदी ने इन तीनों कानूनों को रद्द करने की घोषणा की है.

प्रदेश की धड़कन, 'इंडिया जंक्शन न्यूज़' के ताजा अपडेट पाने के लिए जुड़ें हमारे फेसबुक पेज से...

Check Also

BSNL अब अपने सभी पोस्टपेड प्लान के साथ इरोज नाउ सब्सक्रिप्शन प्रदान करेगी|

इरोज नाउ ने शुक्रवार को कंटेंट पार्टनरशिप के विस्तार की घोषणा की। इसने अपने प्रीपेड …