Breaking News

उत्तर प्रदेश में बदमाशों के हौसले हो रहे है बुलंद, मलीहाबाद में डीजीपी दौरे के 6 घंटे बाद ही किया दोबारा हमला

उत्तर प्रदेश में बदमाशों को जैसे नए पंख मिल गये है ना तो इन्हें प्रशासन का डर है ना तो शासन का. डीजीपी के दौरे को अभी छह घंटे भी नहीं बीते थे कि बदमाशों ने फिर महिलाबाद के एक घर में धावा बोल दिया। बेखौफ बदमाशों ने क्षेत्र के अमानीगंज निवासी एक ग्रामीण के घर से असलहे के दम पर नकदी और करीब एक लाख के जेवरात लूट लिए। पुलिस ने केस दर्ज कर जांच शुरू की है।

 

ये भी पढ़े – लखनऊ के पूर्व डीजीपी सुलखान सिंह की बहेन से खुले आम हुई लूट-पाट

 

असलम के मुताबकि दो बदमाश उसे दबोचे रहे जबकि दो घर में घुस आए। यहां बक्सा तोड़कर उसमें रखे 16 हजार रुपये और करीब एक लाख रुपये के गहने ले गए। उसने बताया कि कुछ देर बात गश्त पर निकली डायल 100 की गाड़ी से पुलिस मौके पर पहुंची और छानबीन कर चली गई। लेकिन जब सुबह तक कोई नहीं पहुंचा तो असलम ने फिर 100 नंबर डायल कर पुलिस को सूचना दी।

 

उसके बाद पहुंची पुलिस ने मौके की छानबीन की और असलम की तहरीर पर केस दर्ज कर लिया है। दोपहर करीब 12 बजे एसपी ग्रामीण सतीश कुमार सिंह और सीओ संतोष सिंह मौके पर पहुंचे। दोनों अफसर घटना को संदिग्ध बता रहे हैं और रात में पहुंची डायल 100 को भी नकार रहे हैं। इस लेकर ग्रामीणों में रोष है। हालांकि, अफसरों ने जल्द ही मामले का खुलासा करने का आश्वासन दिया है।

 

इस वारदात से करीब छह घंटे पहले शाम 6:30 बजे डीजीपी ओपी सिंह, एसएसपी दीपक कुमार और एसपी ग्रामीण डॉ. सतीश कुमार सिंह मलिहाबाद थाने पहुंचे थे। यहां इंस्पेक्टर कक्ष में उन्होंने डीजीपी ने सिर्फ एसएसपी और एसपी ग्रामीण के साथ गुप्त मीटिंग की। इसके बाद बाहर निकलने पर थानाध्यक्ष और टीम को भी गुप्त निर्देश दिए।

 

हालांकि, सूत्रों ने बताया कि डीजीपी ने ग्रामीण इलाके में पुलिस फोर्स तैनात कर ग्रामीणों की सुरक्षा सुनिश्चित करने के निर्देश दिए हैं। 25 मिनट के इस दौरे में उन्होंने पुलिस टीम को हर वक्त अलर्ट रहने का आदेश देते हुए को जल्द ही बदमाशों को पकड़ने का अल्टीमेटम दिया है।

 

डीजीपी ने क्षेत्र में कांबिंग जारी रखने और सं‌दिग्धों से पूछताछ जारी रखने के भी निर्देश दिए हैं। उन्होंने कहा कि पुलिस की लापरवाही बर्दाश्त नहीं की जाएगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*