नहीं होंगे सस्ते पेट्रोल-डीजल के दाम ,ये है वजह ..

पेट्रोलियम कंपनियों  का कहना है  कि सरकार ने अगले महीने कर्नाटक में होने वाले विधानसभा चुनावों के मद्देनजर उनसे पेट्रोल, डीजल की मूल्यवृद्धि टालने का कोई निर्देश नहीं दिया है. वहीं अंतरराष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल की कीमतों में तेजी के बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने तेल उत्पादक देशों से कीमतें तय करने में समझदारी दिखाने का आग्रह किया था.

 

ये भी पढ़े -पेट्रोल-डीजल के बढे एक बार फिर दाम, तेल कंपनियों से भी राहत की उम्मीद कम

इंडियन आयल कारपोरेशन और हिंदुस्तान पेट्रोलियम कारपोरेशन के शीर्ष अधिकारियों ने यह जानकारी दी. सरकार ने अनौपचारिक तौर पर सार्वजनिक क्षेत्र की पेट्रोलियम कंपनियों से गुजरात में दिसंबर, 2017 में हुए चुनावों के मद्देनजर पेट्रोल और डीजल के दाम नहीं बढ़ाने को कहा था. कुछ लोगों का कहना है कि उस समय पेट्रोल और डीजल कीमतों में 45 पैसे प्रति लीटर की बढ़ोतरी होनी थी, जो नहीं की गई.

इस बार इंडियन आयल कारपोरेशन (आईओसी), हिंदुस्तान पेट्रोलियम कारपोरेशन लि. (एचपीसीएल) तथा भारत पेट्रोलियम कारपोरेशन लि. (एचपीसीएल) को एक रुपये प्रति लीटर की वृद्धि का बोझ खुद वहन करने को कहा गया है. आईओसी के चेयरमैन संजीव सिंह ने यहां आईईएफ मंत्री स्तरीय बैठक के मौके पर संवाददाताओं से अलग से बातचीत में कहा, ‘हमें सरकार से मूल्यवृद्धि टालने के लिए कुछ नहीं कहा गया है.’

 एचपीसीएल के चेयरमैन व प्रबंध निदेशक एम के सुराना ने भी कहा कि कंपनी को इस बात की कोई जानकारी नहीं है कि पेट्रोलियम कंपनियों से कीमतें नहीं बढ़ाने को कहा गया है. पेट्रोलियम मंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने सरकार के इस निर्देश के बारे में कुछ नहीं कहा.

प्रदेश की धड़कन, 'इंडिया जंक्शन न्यूज़' के ताजा अपडेट पाने के लिए जुड़ें हमारे फेसबुक पेज से...

Check Also

टाटा मोटर्स

टाटा मोटर्स की इस कार ने बनाया रिकॉर्ड, दंग रह गए अन्य कार निर्माता

टाटा मोटर्स की इस कार ने बनाया रिकॉर्ड, दंग रह गए अन्य कार निर्माता… दुनिया …

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com