इस मुद्दे को किसी पार्टी ने अपने चुनावी प्रचार में नहीं उठाया |

उत्तरप्रदेश में चुनाव को लेकर कई वादे और भविष्य के इरादो के जरिये नेता जनता को लुभाने में लगे है |

हर पार्टी जनता को ये भरोसा दिलाना चाहती है कि अगर उनकी सरकारी आयी तो हर किसी कि समस्या परेशानी को दूर किया जाएगा |

सभी दलो के नेता अपने बयानो से सियासी वातावरण का तापमान बढ़ा रहे है पर प्रदूषण का मुद्दा राजनीतिक पार्टी के मैनेफेस्टो से गायब है प्रदूषित हवा से शहर कि 99% से ज्यादा आबादी ऐसी हवा में सांस लेने को मजबूर है जो विश्व स्वास्थ्य संगठन , भारतीय मानको के हिसाब से भी बदतर हो चुकी है | उत्तरप्रदेश, कानपुर, आगरा जैसे कई बडे शहर इस लिस्ट में आते है |  

प्रदेश की धड़कन, 'इंडिया जंक्शन न्यूज़' के ताजा अपडेट पाने के लिए जुड़ें हमारे फेसबुक पेज से...

Check Also

ट्रैक्टर पर बैठकर सुनी इस नेता ने अलग अंदाज मे किसानो की गुहार।

29 लोकसभा धौरहरा से बसपा गठबंधन प्रत्याशी अरशद सिद्धिकी विधान सभा धौरहरा के ग्राम सभाओ …

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com