इस बार के लोकसभा चुनाव मे सख्ती बढ़ी …

यूपी में बढ़ता आतंकी दखल, और बढ़ते अपराध की वजह से  हर चुनाव में सुरक्षा बलों की सबसे बड़ी चुनौती प्रदेश से जुड़ी सीमाएं रही चुनाव के दौरान सुरक्षा-व्यवस्था के लिए यूपी पुलिस दो माह से काम कर रही है ताकि पड़ोसी राज्यों से काला धन, शराब, हथियार व चुनाव को प्रभावित करने वाले अन्य सामानों की घुसपैठ रोकी जा सके।

इस चुनाव में प्रदेश की सीमाओं पर 6.5 हजार बैरियर बनाये जाएंगे ताकि चप्पे-चप्पे पर पुलिस का पहरा रहे। इसके लिए नेपाल पुलिस, एसएसबी और पड़ोसी राज्यों की पुलिस के साथ समन्वय बैठक कर चेकिंग की कार्ययोजना बनी है।

15 मार्च को मध्य प्रदेश में सीमावर्ती राज्यों के साथ एक और अहम बैठक भी होनी है। चुनाव के लिए गृह विभाग के पास 650 करोड़ रुपये का बजट सुरक्षित है।यूपी नौ राज्यों के 41 जिलों के साथ अपनी सीमा साझा करता है। ऐसे में पुलिस के सामने इन सीमाओं पर चेकिंग व्यवस्था की बड़ी चुनौती होगी। सीमा से घुसपैठ व जाली नोटों की सप्लाई का सवाल भी बड़ा है।

प्रदेश की धड़कन, 'इंडिया जंक्शन न्यूज़' के ताजा अपडेट पाने के लिए जुड़ें हमारे फेसबुक पेज से...

Check Also

मुलायम और अखिलेश यादव को दी क्लीन चिट, कहा- कोई सबूत नहीं मिला

आय से अधिक संपत्ति मामले (Disproportionate Assets Case) में सपा संस्थापक और सपा अध्यक्ष मुलायम सिंह यादव …

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com