5 बड़ी खबरें

आज की 5 बड़ी खबरें …..

आज की 5 बड़ी खबरें …..

  • अयोध्या विवाद: सुप्रीम कोर्ट की संविधान पीठ करेगी मामले की सुनवाई….

सालों से चल रहा अयोध्‍या (राम जन्‍म भूमि विवाद) की सुनवाई अब सुप्रीम कोर्ट की संविधान पीठ करेगी।  मुख्य न्यायाधीश रंजन गोगोई ने सुनवाई पीठ का गठन करने में काफी सावधानी बरती है। सबसे पहले तो अहम मुकदमे को पांच न्यायाधीशों की संविधान पीठ में सुनवाई के लिए लगाया, जबकि इससे पूर्व सुनवाई करने वाली पीठ ने मुस्लिम पक्ष के मुकदमे को संविधान पीठ को भेजने की मांग ठुकरा दी थी। दूसरी खासियत पीठ में शामिल न्यायाधीशों की वरिष्ठता की है। वरिष्ठता क्रम में मुख्य न्यायाधीश के बाद जस्टिस एके सीकरी आते हैं, लेकिन वह दो माह बाद ही छह मार्च को सेवानिवृत्त हो रहे हैं। इसलिए पीठ में नहीं रखे गए हैं। पीठ के बाकी सदस्य इनके बाद के वरिष्ठता क्रम में हैं।

 

  • सवर्ण आरक्षण: संसद में हुआ सवर्ण आरक्षण बिल का स्वागत, अमित शाह ने कही यह बात

मोदी सरकार द्वारा सवर्ण के लिए लाया गया सवर्ण आरक्षण बिल राज्यसभा से भी पास हो गया। बीते बुधवार को करीब 10 घंटे की बहस के बाद इस बिल को मंजूरी मिल गई। संसद में इस बिल का स्वागत कई सांसदों ने किया वहीं कई ने विरोध भी किया। पीएम मोदी ने बिल पास होने के बाद इसकी बधाई भी दी है। इस पर अमित शाह ने अपनी सीट से ही कहा कि मेरिट वाले में कोई भी गरीब बच्चा भी आ सकता है फिर चाहे वह दलित हो या आदिवासी हो। अमित शाह के इस तर्क पर रामगोपाल यादव ने कहा कि अगर ऐसा है तो फिर संख्या और कम हो जाएगी।

  • सीबीआई निदेशक आलोक वर्मा ने काम संभालते ही किए सभी तबादले रद्द

सीबीआई निदेशक के पद का कारभार दोबारा से संभालते हुए आलोक वर्मा ने ने तत्कालीन अंतरिम निदेशक एम नागेश्वर राव द्वारा किए गए लगभग सभी ट्रांसफर ऑर्डर को निरस्त कर दिया है।

  • नीतू वेल्डर के बुलंद हौसलों ने एक हाथ से संवारा बहनों का भविष्य, दिव्यांग होने के बावजूद उठा रहीं जिम्मेदारियां

उत्तर प्रदेश के सैमर टोला गांव की नीतू वेल्डर अपवाद हैं। पिता के बीमार पड़ने के कारण उन्हें इस काम का बोझ अपने कंधों पर उठाना पड़ा। अपनी जिम्मेदारियों को नीतू बाखूबी निभा रहीं हैं। नीतू ने बहनों का भविष्य गढ़ने के साथ ही परिवार की जिम्मेदारी संभाली। दिव्यांग होने के बावजूद एक ही हाथ से इतना कठिन काम कर लेने पर लोग नीतू सिंह की हिम्मत की दाद देते हैं।

  • लखनऊ मेट्रो: रफ्तार भरे सफर के लिए करना पड़ सकता है अप्रैल तक का इंतज़ार

काफी दिनो से लखनऊ में चल रहा मेट्रो का काम कुछ हद तक हो चुका है। कहा जा रहा है कि यात्रियों को मेट्रो की रफ्तार भरी यात्रा क के लिए लोगों को अप्रैल तक का इंतज़ार करना पड़ सकता है।

तमाम कोशिशों के बाद भी 26 मार्च को प्रस्तावित कमर्शियल रन नहीं हो पाएगा।

प्रदेश की धड़कन, 'इंडिया जंक्शन न्यूज़' के ताजा अपडेट पाने के लिए जुड़ें हमारे फेसबुक पेज से...

Check Also

जम्मू एवं कश्मीर: भारी बर्फबारी के बीच सुरक्षाबलों की मुठभेड़, तीन आतंकी ढेर

12 घंटे से अधिक बडगाम जिले के चरार-ए-शरीफ इलाके में भारी बर्फबारी के बीच हुई …

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com