सीतापुर से ऐशबाग के लिए ट्रेन का संचालन शुरू, मनोज सिन्हा ने दिखाई हरी झंडी

लगभग 133 सालों से यात्रियों की यात्रा का साथी बना रहा ऐशबाग रेलवे स्टेशन को आमान परिवर्तन के बाद ऐशबाग-सीतापुर रेलखंड पर बुधवार को एक नई दिशा मिली। 9 जनवरी 2019 को ट्रेन संचालन दोबारा शुरू किया गया। रेल मंत्री मनोज सिन्हा ने हरी झंडी दिखाकर पहली ट्रेन को रवाना किया। एनईआर के सीपीआरओ संजय यादव ने बताया कि खैराबाद अवध स्टेशन पर होने वाले उद्‌घाटन कार्यक्रम में सांसद राजेश वर्मा व कौशल किशोर भी मौजूद रहे । 88.25 किलोमीटर के इस ट्रैक के आमान परिवर्तन पर रेलवे ने 374 करोड़ रुपये खर्च किए हैं।

रेल राज्य मंत्री ने अपने संबोधन में पीएम मोदी का जमकर गुणगान किया। कहा कि, प्रधानमंत्री यह मानते है कि भारतीय रेल सामान्य परिवार के परिवहन का एक साधन है। प्रधानमंत्री ने सामान्य वर्ग के लोगों की पीड़ा को समझा। भारतीय रेलवे में निवेश को भारी मात्रा में बढ़ाया।

आपको बता दें कि सीतापुर में जो 133 साल से छोटी लाइन से लखनऊ के लिए जो रेल का सफर चल रहा था करीब 2 वर्ष पूर्व बंद कर दिया गया था। जिसके बाद रेलवे ट्रैक पर आमान परिवर्तन का काम शुरू कर दिया गया था और स्टेशन को जक्शन में तब्दील करके सुविधाओं से लेस कर दिया गया। आज सीतापुर से ऐशबाग के लिए ट्रेन का संचालन जैसे ही शुरू किया गया। यात्रियों में और स्थानीय लोगों में खुशी की लहर देखने को मिली। लोगों का कहना था कि करीब 2 वर्षों से हम लोग रोडवेज बस का सफर करते थे जिसमें किराया ज्यादा लगता था और हम लोगों को परेशानी उठानी पड़ती थी। लेकिन अब 25 रुपये में हम लोग सीतापुर से लखनऊ का सफर तय कर सकेंगे। इसके लिए यात्रियों ने सरकार और रेल राज्य मंत्री की जमकर तारीफ की।

वहीं इस मौके पर मीडिया से रूबरू होते हुए रेल राज्य मंत्री मनोज सिन्हा ने कहा कि लगातार हमारे तीनों सांसद लगे हुए थे। यह काम जल्दी से जल्दी पूरा हो। जिससे क्षेत्र के लोगों को आवागमन में दिक्कत ना उठानी पड़े। 3 जोड़ी गाड़ियां यहां से चलाई गई हैं सांसद राजेश वर्मा ने मांग पर कह दिया गया है कि जो मुंबई से लखनऊ गाड़ी आती है उस पर भी महाप्रबंधक रेलवे को कह दिया गया है। उस पर भी निर्णय किया जाएगा ताकि देश के बड़े शहरों से यह क्षेत्र जुड़े।

जहां तक हमारी पार्टी का सवाल है जब हम भारतीय जनतंत्र के ऊपर काम करते थे तब भी और भारतीय जनता पार्टी के चुनावी घोषणापत्र में को आप उसको पढ़े एक बात बार-बार कही थी कि गरीबी भी एक पिछड़ेपन का कारण है। बाकी जो राजनीतिक दल है उनके भी घोषणा पत्र पढ़ें उन्होंने भी इस बात को कहा है कि गरीब लोग जो हैं इन पर विचार करना चाहिए और मैं समझता हूं बड़ा ऐतिहासिक फैसला प्रधानमंत्री जी ने किया है। महागठबंधन के सवाल पर रेल राज्य मंत्री बोले उनके सामने कोई लक्ष्य नहीं है। केवल एक ही लक्ष्य है कि मोदी को रोका जाए और देश की जनता यह जानती है। जैसा मैंने पहले कहा कि यह पहली सरकार है जो गांव में गरीब के दरवाजे पर दिख रही है। यह ऐसी सरकार है जिसने हर गांव में बिजली पहुंचा दी। ऐसा कोई गांव नहीं है जहां बिजली न पहुंची हो।

प्रदेश की धड़कन, 'इंडिया जंक्शन न्यूज़' के ताजा अपडेट पाने के लिए जुड़ें हमारे फेसबुक पेज से...

Check Also

बेंगलुरु हुआ 70 पर ढेर..

  ऑफ स्पिनर हरभजन सिंह (20 रन पर तीन विकेट) और लेग स्पिनर इमरान ताहिर …

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com