जहरीली “जाम” से गयी दो दर्जन जान…

लखनऊ:  मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने यूपी में जहरीली शराब से मौत होने पर इसके जिम्मेदार को फांसी का फरमान दिया है। उसके बावजूद भी प्रदेश के शराब माफियाओं पर कोई डर नहीं पैदा हो पाया। जिसके परिणामस्वरूप राज्य के सहारनपुर, कुशीनगर और उत्तराखंड के रुड़की में जहरीली शराब पीने से 42 लोगों की मौत हो गयी। प्रदेश आबकारी मंत्री जयप्रताप सिंह ने बताया कि बिहार से बना कर लाई गई जहरीली शराब को पीने से 8 लोगों की मौत हो गई है। इस मामले में बिहार के सीमावर्ती क्षेत्रों में नकली शराब तैयार कराने वाले गिरोह के यूपी और बिहार बार्डर पर गरीबों को सस्ती शराब आपूर्ति करने के आरोपी राजेन्द्र जायसवाल के विरुद्ध आबकारी विभाग ने मुकदमा दर्ज कराया है। शराब माफिया राजेन्द्र को पुलिस ने गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है।

जहरीली शराब के आपूर्ति का आरोपी की मौत

जबकि सहारनपुर में जहरीली शराब से 9 लोगों की मौत हुई है। उन्होंने बताया कि उनके विभाग के अधिकारियों ने बताया है कि सहारनपुर में जहरीली शराब के आपूर्ति का आरोपी ज्ञान सिंह भी जहरीली शराब से मर गया है।उत्तराखंड के रुड़की जिले में भगवानपुर नामक गाँव मे जहरीले शराब से 14 लोगों के मरने और 40 लोगों के अस्पताल में भर्ती होने की सूचना है। विभागीय सूत्रों का कहना है कि यूपी के आबकारी आयुक्त धीरज साहू जब से इस पद पर बैठे हैं तब से अब तक राज्य में जहरीली शराब से प्रदेश के आधा दर्जन से अधिक जिलों में चार दर्जन से ज्यादा लोगों की मौत हुई है। बता दें कि राज्य के आबकारी आयुक्त एक वरिष्ठ भाजपा नेता के बेटे हैं।

मुख्यमंत्री नहीं हटा पा रहे हैं इनको

इसी लिए इतनी घटनाओं और मौतों के बाद भी मुख्यमंत्री योगी उन्हें हटा नहीं पा रहे हैं। राज्य आबकारी आयुक्त के कैम्प कार्यालय से जुड़े लोगों ने नाम न छापने की शर्त पर कहा कि मृतकों की संख्या अभी और बढ़ेगी। कुशीनगर में यह संख्या लगभग एक दर्जन तथा सहारनपुर में लगभग डेढ़ दर्जन तक जा सकती है।इस बीच प्रदेश सरकार ने जहरीली शराब से मरने वालों को 2 लाख और इसे पीकर गंभीर रूप से बीमार हुए लोगों को 50 हजार देने की घोषण किया है।माना जा रहा है कि विधानसभा सत्र चलने के कारण अगले सप्ताह विधानमंडल के दोनों सदनों में जहरीली शराब से हुई मौतों का मुद्दा गूंजेगा।

इनको फोन तक नहीं आये

कुशीनगर जे आबकारी अधिकारी, आबकारी निरीक्षक, 4 आबकारी सिपाही, पुलिस के थानेदार और 4 सिपाही निलंबित कर दिये गए हैं। जबकि सहारनपुर के आबकारी अधिकारी और आबकारी निरीक्षक के निलंबन की प्रकिया शुरू कर दी गयी है। इस संदर्भ में बात करने के लिए आबकारी मंत्री, सहारनपुर और कुशीनगर के अधिकारी तो बात कर लिए लेकिन राज्य मुख्यालय पर तैनात प्रमुख सचिव आबकारी कल्पना अवस्थी और आबकारी आयुक्त धीरज साहू को फोन तक नहीं आये। आश्चर्य की बात तय यह है कि शुक्रवार दोपहर तक आबकारी आयुक्त के रिकार्ड में कुशीनगर में जहरीली शराब से मात्र दो ही मौत बताया जा रहा था। जहरीली शराब से हुई भारी संख्या में हुई मौतों के बाद जागे आबकारी विभाग ने प्रदेश भर में जहरीली शराब के खिलाफ अभियान चला कर छापेमारी चला रही है।

प्रदेश की धड़कन, 'इंडिया जंक्शन न्यूज़' के ताजा अपडेट पाने के लिए जुड़ें हमारे फेसबुक पेज से...

Check Also

खराब मौसम के चलते एयर इंडिया का विमान लखनऊ से दिल्‍ली डायवर्ट…

 तेज बारिश और खराब मौसम के चलते बुधवार को जयपुर से लखनऊ जाने वाली एयर …

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com