गृहमंत्री अमित शाह

शाह बोले- उपद्रवियों से निपटते वक्त उकसावे में न आए दिल्‍ली पुलिस

नई दिल्‍ली। रविवार को दिल्ली पुलिस के 73वें स्थापना दिवस के कार्यक्रम में पहुंचे केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने परेड की सलामी ली और फिर लोगों को संबोधित किया। इस दौरान शाह ने कहा कि मैं लोगों से निवेदन करना चाहता हूं कि जब भी आप दिल्ली आएं तो हमारे राष्ट्र के लिए अपने प्राणों की आहुति देने वाले 35,000 पुलिस जवानों को श्रद्धांजलि देने के लिए पुलिस स्मारक जरूर जाएं।

अमित शाह ने कहा कि दिल्ली पुलिस को शरारती तत्वों से निपटने के लिए हमेशा तैयार रहना चाहिए। उन्‍होंने 1950 में भारत के पहले गृहमंत्री सरदार वल्लभभाई पटेल के एक भाषण का हवाला देते हुए कहा कि गुस्से और उकसावे के बावजूद दिल्ली पुलिस को शांत रहना चाहिए। साथ ही लोगों की सुरक्षा के लिए उपद्रवों से दृढ़ता से निपटने के लिए तैयार रहना चाहिए। कई मौकों पर दिल्ली पुलिस ने सरदार पटेल की इस सलाह को माना है।

यह भी पढ़ें: IPL 2020: 1 मार्च को टीम से जुड़ेंगे धोनी, मुंबई से पहला मैच

केंद्रीय गृहमंत्री ने कहा, देश की आजादी के बाद 35,000 से ज्यादा पुलिस के जवानों ने अपना सर्वोच्च बलिदान देश की सुरक्षा और देश की कानून व्यवस्था को बनाए रखने के लिए दिया है। हमारे लिए अनेक त्योहार होते हैं लेकिन पुलिस के लिए हर त्योहार अपनी जिम्मेदारी का निर्वहन करने का मौका होता है। इतनी जिम्मेदारी के साथ जो अपने कर्तव्यों का निर्वहन करते हैं, उनका सम्मान देश के हर नागरिक के हृदय में होना चाहिए।’

अमित शाह ने कहा कि पुलिस शांति और सुरक्षा व्यवस्था बनाए रखने का काम बिना किसी धर्म और जाति को देखकर नहीं करती है, जरूरत पड़ने पर मदद करती है। वो किसी की दुश्मन नहीं है। पुलिस शांति की दोस्त है, व्यवस्था की दोस्त है इसलिए सदैव उसका सम्मान किया जाना चाहिए।

प्रदेश की धड़कन, 'इंडिया जंक्शन न्यूज़' के ताजा अपडेट पाने के लिए जुड़ें हमारे फेसबुक पेज से...

Check Also

श्यामा प्रसाद मुखर्जी की जयंती पर पीएम मोदी ने दी श्रद्धांजलि

भारतीय जनसंघ के संस्थापक और भारतीय जनता पार्टी के प्रमुख आदर्शों में से एक श्यामा …

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com