जिंदा रहना चाहती थी उन्नाव की बेटी, लेकिन हैवानो की हैवानियत से जिंदगी की जंग हार गई

नई दिल्ली। उन्नाव की रेप पीड़िता मरना नहीं चाहती थी लेकिन जिस दिन से उसे आगे हवाले किया गया था उस दिन जिंदगी और मौते से लड़ते हुए आखिरकार शुक्रवार की रात जंग हार गई। दिल्ली के सफदरगंज अस्पताल में भर्ती पीड़िता शुक्रवार रात 11 बजकर 40 मिनट पर अंतिम सांस ली। 95 फीसदी जल चुकी पीड़िता को डॉक्टर ने बहुत प्रयास करके उसे बचाने की कोशिश की लेकिन सारे प्रयास असफल रहे और वह बेहद दर्दनाक तरीके से इस दुनिया को अलविदा कह गई। पीड़िता के आखिरी शब्द हर संवेदनशील इंसान का सीना चीर रहा है। वह मरना नहीं चाहती थी, लेकिन ऐसा न हो सका, इस बेदर्द दुनिया से जंग हार गई।

 

 

 

उत्तर प्रदेश के उन्नाव की 95 फीसदी जल चुकी यह बेटी गुरुवार की देर शाम लखनऊ से एयर लिफ्ट कर दिल्ली लाए जाने के बाद रात नौ बजे तक होश में थी, जिसे सफदरजंग अस्पताल में भर्ती कराया गया। पीड़िता जब तक होश में रही, पूछती रही- मैं बच तो जाउंगी, मैं जिंदा रहना चाहती हैं, उसने ये भी कहा कि मेरे दोषियों को छोड़ना नहीं। पीड़िता दर्द से कराहते हुए अपने भाई से पूछती रही थी कि ‘मैं बच तो जाऊंगी न, मैं मरना नहीं चाहती’ हूं, नाजुक हालत में पीड़िता अपने भाई से यही बात बार बार दोहराती रही, इसके बाद उसने कहा कि उसके गुनहगारों को मत छोड़ना भइया। इसके आगे वह कुछ नहीं बोल सकी। भाई किसी तरह खुद के आंसू रोके रहा पर लेकिन वह रोक न सका और बाहर आते ही उसका सब्र जवाब दे गया, उसकी आंखो से आंसुओं का सैलाब छूट गया।

 

 

 

सफदरजंग अस्पताल के प्रवक्ता ने उन्नाव रेप पीड़िता के निधन की पुष्टि की है। सफदरजंग अस्पताल के बर्न एंड प्लास्टिक सर्जरी डिपार्टमेंट के हेड डॉ. शलभ कुमार ने बताया, ‘हमारे बड़े प्रयासों के बावजूद पीड़िता को बचाया नहीं जा सका, शाम में ही उसकी हालत नाजुक हो गई थी। रात 11.10 बजे उसे कार्डियक अरेस्‍ट आया जिसके बाद हमने इलाज शुरू कर दिया और लेकिन बहुत प्रयास करने के बाद रात में 11.40 बजे उसकी मौत हो गई।

 

 

 

पीड़िता के पिता ने बड़े दुःख के साथ कहा कि अगर न्याय प्रणाली में तुरंत न्याय दिलने का कानून है तो उनकी बेटी को जल्द न्याय मिले। अपराधियों को तुरंत फांसी पर लटका दिया जाए। ताकि भविष्य में ऐसी घटना न घटे। उन्होंने कहा कि रूलिंग पार्टी या प्रशासन की तरफ से कोई वरिष्ठ व्यक्ति हमसे मिलने नहीं आया। उन्होंने अपना गुस्सा जाहिर करते हुए कहा, “या तो हैदराबाद की तरह उनका एनकाउंटर किया जाए या फिर उनको फांसी की सजा हो। रेप आरोपी जमानत मिलने के बाद मेरी बेटी और मेरे साथ-साथ परिवार के अन्य सदस्यों को लगातार धमका रहे थे लेकिन पुलिस ने कोई सख्त कदम नहीं उठाया।

प्रदेश की धड़कन, 'इंडिया जंक्शन न्यूज़' के ताजा अपडेट पाने के लिए जुड़ें हमारे फेसबुक पेज से...

Check Also

राम जन्म भूमि पूजन के अवसर किया गया अखंड पाठ का आयोजन

सम्पूर्णा नगर लखीमपुर खीरी, जनपद लखीमपुर खीरी के कस्बा सम्पूर्णानगर के व्यापारियों ने श्री राम …

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com