सीएम योगी आदित्यनाथ

युवाओं के लिए खुलेगा योगी सरकार के चौथे बजट का पिटारा

लखनऊ। सूबे की योगी आदित्‍यनाथ सरकार का चौथा वार्षिक बजट युवाओं पर केंद्रित रहेगा। प्रदेश सरकार का 2020-21 का बजट 5 लाख करोड़ रुपये जरूर पार कर जाएगा, लेकिन केंद्र सरकार के बजट से कम हिस्सेदारी का असर भी इसमें दिख सकता है।

प्रदेश सरकार के पहले बजट (2017-18) में सरकार ने किसानों की ऋणमाफी पर फोकस किया। दूसरे बजट में इन्फ्रास्ट्रक्चर व छोटे-मझोले उद्योगों पर फोकस रहा। 2018-19 के बजट में एक साथ बुंदेलखंड व गोरखपुर लिंक नए एक्सप्रेस-वे का ऐलान हुआ। पूर्वांचल व लखनऊ-आगरा एक्सप्रेस-वे पर काम पहले से चल रहा था। एमएसएमई सेक्टर में जान फूंकने के लिए वन डिस्ट्रिक्ट-वन प्रोजेक्ट योजना लांच की गई।

यह भी पढ़ें: आज अमित शाह से मिलेंगी शाहीन बाग की प्रदर्शनकारी महिलाएं!

2019-20 में सरकार ने महिलाओं और बेटियों पर फोकस बढ़ाया और ‘कन्या सुमंगला योजना’ सबसे बड़ी योजना के रूप में सामने आई। चौथे बजट में सरकार का पूरा फोकस युवाओं पर केंद्रित है। इसमें युवाओं को नौकरी व स्वरोजगार के लिए प्रेरित करने से संबंधित कई योजनाओं की घोषणा करने की तैयारी है।

बजट में हाईस्कूल, इंटरमीडिएट व ग्रेजुएशन की पढ़ाई करने वाले युवाओं के लिए इंटर्नशिप स्कीम का ऐलान होगा। छह महीने से साल भर तक 2,500 रुपये प्रतिमाह नकद और इसके बाद प्लेसमेंट दिलाने की योजना है। मुख्यमंत्री इस स्कीम का ऐलान गोरखपुर में कर चुके हैं। इसे बजट में शामिल कर लिया गया है और यह बजट की सबसे आकर्षक स्कीम हो सकती है।

प्रदेश की धड़कन, 'इंडिया जंक्शन न्यूज़' के ताजा अपडेट पाने के लिए जुड़ें हमारे फेसबुक पेज से...

Check Also

कोरोना इफेक्‍ट: घंटाघर पर CAA-NRC विरोधी धरना स्थगित, प्रदर्शनकारी महिलाएं हटीं

लखनऊ। राजधानी के हुसैनाबाद स्थित घंटाघर पर पिछले 66 दिनों से नागरिकता कानून व एनआरसी …

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com