उज्जैन महाकाल में हुई फूल प्रसाद बेचने को लेकर मार-पीट विडियो हुआ वायरल

उज्जैन महाकालेश्वर मंदिर के बाहर  देखते ही देखते डंडे चपल जूते बरसने लगे एक दुसरे पर ऐसे टूट पड़े मानो जान लेकर ही मानेंगे. दरअसल महाकाल के मंदिर के बाहर झगड़ा शुरू हो गया, इतना ही नहीं वहां आयें श्रद्धालु सहम गए.

 

 

जहां मारपीट हुई वहां से सिर्फ़ 100 मीटर दूर पुलिस थाना था और महाकाल मंदिर में भी पुलिस चौकी है, लेकिन पुलिस को घटना की भनक तक नहीं लगी. करीब 20 मिनट तक मंदिर के बाहर खतरनाक मारपीट का ये तमाशा चलता रहा.

 

ये भी पढ़े – लखनऊ के लामार्टीनियर से अगवा छात्र मिला, पुलिस मुठभेड़ आरोपी हुआ घायल

 

 

हालांकि घटना के क़रीब एक घंटे बाद पुलिस ने दोनों पक्षों के ख़िलाफ़ मारपीट का मुकदमा दर्ज किया, लेकिन गिरफ़्तारी किसी की भी नहीं की गई. खतरनाक तरीके से हुई मारपीट की इस घटना ने महाकाल मंदिर की सुरक्षा व्यवस्था पर प्रश्न चिन्ह लगा दिए हैं. महाकाल मंदिर के बाहर असुरक्षा और पुलिस की अनदेखी का ये आलम तब है जब दो दिन पहले भी यहाँ फूल प्रसादी बेचने को खूनृ-खराबा हो चुका है और एक युवक चाकूबाजी में गंभीर रूप से घायल होकर अस्पताल में जिंदगी और मौत से जूझ रहा है.

 

 

 

ऐसे में सवाल ये उठता है कि जब महाकाल मंदिर में चार स्तरीय सुरक्षा व्यवस्था है और महाकाल मंदिर की पुलिस चौकी होने के साथ, थाना पुलिस, विशेष सशस्त्र बल, होमगार्ड्स के अलावा महाकाल मंदिर की खुद की सिक्योरिटी एजेंसी यहाँ सुरक्षा व्यवस्था संभाल रही है.

 

 

अब देखना ये है कि महाकाल मंदिर के बाहर हुई मारपीट की इस खतरनाक घटना और आये दिन फूल प्रसादी बेचने को लेकर हो रहे खूनखराबे की घटनाओं को सिंघम के रूप में ख्याति अर्जित कर चुके पुलिस कप्तान सचिन अतुलकर और कलेक्टर मनीष सिंह क्या एक्शन लेते हैं.

प्रदेश की धड़कन, 'इंडिया जंक्शन न्यूज़' के ताजा अपडेट पाने के लिए जुड़ें हमारे फेसबुक पेज से...

Check Also

राजस्थान के मुख्यमंत्री होंगे अशोक गहलोत 

नई दिल्ली| कांग्रेस ने शुक्रवार को घोषणा की कि अशोक गहलोत राजस्थान के मुख्यमंत्री होंगे, …

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com