Breaking News
योगी

योगी राज में भी नहीं है उत्तर प्रदेश की महिला सुरक्षित, रक्षक ही बन रहे है भक्षक

उत्तर प्रदेश में महिला सुरक्षा को लेकर कई बड़े वादे फीके पड़ते नज़र आ रहे है योगी राज में भी महिला दूर दूर तक सुरक्षित नज़र नहीं आ रही है।  महिला सुरक्षा सप्ताह अभियान के तहत जयपुरिया कॉलेज में आयोजित कार्यक्रम के दौरान उस वक्त माहौल गर्म हो गया जब एक छात्रा ने कार्यक्रम के दौरान ही एसएसपी के सामने एक सिपाही की अश्लील हरकतों का चिट्ठा खोल दिया। इतना ही नहीं उसने सिपाही के भेजे हुए वाट्सएप मैसेज को भी सबके सामने रख दिया। डीजीपी के आदेश पर जिले की पुलिस अपने कप्तान के नेतृत्व में महिला कॉलेजों में महिला सुरक्षा सप्ताह मना रही है। शुक्रवार को जयपुरिया इंस्टीट्यूट ऑफ मैनेजमेंट कॉलेज गोमती नगर में एसएसपी दीपक कुमार कॉलेज की छात्राओं से रूबरू थे।

 

ये भी पढ़े -मुलायम सिंह यादव की बहु अपर्णा के “घूमर” डांस पर राजपूतो की सियासत

 

कॉलेज की एक छात्रा ने एसएसपी से सवाल पूछते हुए कहा कि अपने खिलाफ शोषण के लिए आवाज उठाकर पुलिस की मदद लेने के लिए कहा जाता है, लेकिन जब पुलिस ही अभद्रता पर उतर आए तो हम कहां जाएं। रात में मुझे और दोस्त को एक सिपाही उठाकर थाने ले जाता है। मेरे दोस्त को अगले दिन छोड़ा जाता है। उससे रुपये भी वसूले जाते हैं। सिपाही मुझे व्हाट्सएप पर मैसेज करता है।

 

छात्रा के इस सवाल और खुलासे से एसएसपी समेत वहां उपस्थित सभी लोग सन्न रह गए। छात्रा ने बताया कि गत 5 नवंबर को उनके कॉलेज में डीजे नाईट थी। इसके बाद करीब 11 बजे कॉलेज के ही एक छात्र के साथ वह गोमती नगर रेलवे स्टेशन पर गई और सेल्फी लेने लगी। छात्रा का आरोप है कि इसी दौरान एक सिपाही अपनी मोटरसाइकिल से आया और दोनों के साथ अभद्र व्यवहार करने लगा। उनका मोबाइल छिनने लगा।

(आरोपी सिपाही) तमाम तहर के सवाल करने लगा। इतनी रात को यहां पर क्या कर रहे हो। लड़का कौन लगता है। इसके साथ रात में क्यों घूम रहे हो। छात्रा ने बताया कि सिपाही उन्हें बिना बात पर डांट रहा था। जब उसने उसे टोका और अपने दोस्त के साथ जाने लगी तो सिपाही ने रोक लिया।

छात्रा ने बताया कि सिपाही ने फोन कर एक कार मंगाई और मुझे मेरे दोस्त के साथ गोमती नगर थाने ले आई। उसके साथ कोई महिला पुलिस भी नहीं थी।थाने में भी काफी डांट लगाई। छात्रा का आरोप है कि थाने के एक अधिकारी ने रात में लड़के के साथ घूमने पर उसके साथ अभद्र भाषा का प्रयोग किया। उसके साथ गाली-गलौच की।

 

ये भी पढ़े – तीन तलाक को लेकर SC के फैसले की नज़र अंदाजी- बीवी को वॉट्सऐप पर दिया तलाक

 

(आरोपी सिपाही) तमाम तहर के सवाल करने लगा। इतनी रात को यहां पर क्या कर रहे हो। लड़का कौन लगता है। इसके साथ रात में क्यों घूम रहे हो। छात्रा ने बताया कि सिपाही उन्हें बिना बात पर डांट रहा था। जब उसने उसे टोका और अपने दोस्त के साथ जाने लगी तो सिपाही ने रोक लिया। छात्रा ने बताया कि सिपाही ने फोन कर एक कार मंगाई और मुझे मेरे दोस्त के साथ गोमती नगर थाने ले आई।

 

उसके साथ कोई महिला पुलिस भी नहीं थी। थाने में भी काफी डांट लगाई। छात्रा का आरोप है कि थाने के एक अधिकारी ने रात में लड़के के साथ घूमने पर उसके साथ अभद्र भाषा का प्रयोग किया। उसके साथ गाली-गलौच की।

 

 

 

 

छात्रा ने बताया कि वह उसकी फोटो भी भेजता है जो उसने रात में सेल्फी के दौरान खींची थी। छात्रा सिपाही का नाम नहीं जानती, लेकिन व्हाट्सएप की डीपी पर लगी सिपाही की फोटो से उसकी पहचान कराई। सिपाही का नाम गौरव प्रताप बताया जा रहा है। एसएसपी ने मामले की जांच कर कार्रवाई करने का आश्वासन दिया है।

 

पुलिस के जागरूकता अभियान के दौरान यह पहला मामला नहीं है जब किसी छात्रा ने पुलिस पर इस तरह का आरोप लगाया है। एसएसपी दीपक कुमार ने बताया कि अवध गर्ल्स और एपी सेन में कार्यक्रम के दौरान भी कुछ छात्राओं ने ऐसी शिकायत दर्ज कराई है। उन मामलों में भी जांच कराकर कार्रवाई की जाएगी। इस तरह का व्यवहार करने वाला चाहे पुलिसकर्मी ही क्यों न हो उसे बख्शा नहीं जाएगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*