अखिलेश ने किया गठबंधन तो समझो हो गई हार : मायावती

लखनऊ. बसपा सुप्रीमो मायावती ने आज केन्द्र की नरेन्द्र मोदी सरकार और उत्तर प्रदेश की अखिलेश यादव सरकार पर आज बड़ा हमला बोला. भाजपा की परिवर्तन यात्रा और समाजवादी पार्टी के परिवार में मचे घमासान पर मायावती ने चुटकी लेते हुए कहा कि ऐसे हालात ने सत्ता में उनकी राह आसान कर दी है.

उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी का परिवर्तन लाने का एलान पहले बंगाल फिर बिहार और अब तक दिल्ली में पूरी तरह से फेल हो चुका है. परिवर्तन यात्रा जिस तरह के परिवर्तन लाने का एलान करने के लिए निकल रही है. जनता जानती है कि भाजपा के शासन में कोई परिवर्तन नहीं आने वाला है.

मायावती ने आरोप लगाया कि भारतीय जनता पार्टी किसान विरोधी सरकार है. भाजपा सरकार ने गन्ना किसानों का कोई बकाया नहीं चुकाया है. यूपी की सरकार ने भी गन्ना किसानों का बकाया नहीं चुकाया है. यूपी में जब हमारी सरकार थी तब हमने गन्ना किसानों का बकाया अदा किया था.

उत्तर प्रदेश की अखिलेश यादव सरकार अगर किसी से गठबंधन कर लेती है तो यह साफ़ हो जाएगा कि उसने अपनी हार मान ली है. इस चुनाव में शिवपाल यादव और अखिलेश यादव का खेमा एक दूसरे को हराएगा. मायावती ने कहा कि सपा सरकार ने अगर काम किया होता तो इन्हें गठबंधन बनाने की ज़रुरत नहीं पड़ती. उन्होंने अखिलेश यादव को सलाह दी कि बेहतर होगा कि परिवार के झगड़े के बीच वह कुछ समय उत्तर प्रदेश की समस्याओं से निबटने के लिए भी निकाल लिया करें.

उन्होंने कहा कि बीजेपी में इतने नामी गिरामी गुंडे हैं की नाम क्या गिनाऊं. पार्टी अध्यक्ष अमित शाह का खुद इतिहास है. उन्होंने कहा कि भाजपा की गुंडई की बात करें तो इसकी शुरुआत तो गुजरात से ही होती है.

मायावती ने अकेले चुनाव लड़ने का एलान किया. उन्होंने कहा कि बसपा किसी भी पार्टी से गठबंधन नहीं करेगी.

 

Check Also

आखिर क्यों बरसे भाजपा पर खड़गे ?

राहुल गांधी , गांधी परिवार के चौथे नेता के रूप में पठानकोट में जनसभा करने …