अमित शाह ने ली चुस्की-कहा क्यों तकलीफ में हैं माया, मुलायम और केजरीवाल?

नई दिल्ली।  500 रुपए और 1000 रुपए के नोट बंद करने के सरकार के फैसले पर शुक्रवार को बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह ने सामने आकर पार्टी का पक्ष रखा। शाह ने कहा कि इस फैसले ने सरकार की कालेधन की लड़ाई को महत्वपूर्ण मोड़ पर लाकर खड़ा कर दिया है। आतंकवादियों को, नकली नोट चलाने वालों को और ड्रग्स के कारोबारी को झटका लगा है।

बीजेपी अध्यक्ष ने कहा कि पूरा देश मानता है, ये अवैध काम करने वालों के लिए बहुत ही तकलीफदेह निर्णय है। मैं आज आप सबके सामने हाजिर हुआ हूं। इस फैसले से किसी भी प्रमाणिक करदाता को डरने की जरूरत नहीं है। सरकार ने सोच समझकर ही फैसला लिया है। सबके हितों की सरकार व्यवस्था करेगी। ढाई लाख से कम नोट जिनके पास हैं, उनको अपने बैंक अकाउंट में उसे डालने में कोई दिक्कत नहीं होगी। न ही किसी तरह की पूछताछ होगी।

शाह ने कहा कि जहां जहां कमियां आ रही हैं, उनको हल करने के लिए टीम बनाई गई है। आज देश की जनता से अपील करता हूं कि सरकार के कदम को वह समर्थन दे। उन्होंने कहा कि दो दिन से अलग अलग पार्टियों की प्रतिक्रिया हम देख रहे हैं और जनता भी देख रही है। अवैध काम करने वालों को दुःख हो ये तो मैं समझता हूं लेकिन दलों में हलचल है, ये समझ से परे है। मैं मायावती से, मुलायम से, केजरीवाल से और राहुल से पूछता हूं कि आपको क्या पीड़ा है? जिस प्रकार का माहौल पार्टियां बना रही हैं, मैं उनसे पूछता हूं कि वह काले धन के समर्थन में हैं या इसके खिलाफ हैं। जनता को भी दलों से सवाल पूछना चाहिए।

उन्होंने कहा कि कल तक जो सवाल पूछते थे कि नरेंद्र मोदी ने काले धन के लिए क्या किया? वो आज हाय तौबा मचा रहे हैं। मैं पूछना चाहता हूं कि मायावती, मुलायम सिंह यादव, राहुल गांधी, ममता बनर्जी को इस फैसले से क्या पीड़ा हो सकती है

बता दें कि मायावती, मुलायम सिंह यादव, राहुल गांधी और अरविंद केजरीवाल जैसे प्रमुख नेता किसी न किसी बहाने से नोट बंद करने को लेकर सरकार को निशाने पर ले चुके हैं। बीएसपी सुप्रीमो मायावती ने तो यहां तक कह दिया कि मोदी ने देश में अघोषित आर्थिक आपातकाल लगा दिया है। शुक्रवार को इन्हीं हमलों का जवाब देते हुए शाह ने कहा, ‘मैं मानता हूं कि चारो दलों (बीएसपी, कांग्रेस, आप और एसपी)  ने अपने आपको एक्सपोज कर दिया है। काले धन के खिलाफ लड़ाई को लेकर जो फैसले हुए हैं। आप लोग भी जनता का हौसला बढ़ाइये। उनका मार्गदर्शन करिए। मीडिया सरकार के इस फैसले को आम जनता तक पहुंचाए, ये मेरी अपील है।

शाह ने कहा, ‘मैं मानता हूं कि इन चारों पार्टियों ने अपना अपराधी चेहरा दिखाया है।’ उन्होंने देश की जनता से अपील की कि हो सकता है लाइनें लंबी हों लेकिन उनके प्रति संवेदना रखते हुए मैं यह अपील करूंगा कि वह सरकार के कदम को समर्थन दें।

शुक्रवार को दो दिन बंद रहने के बाद देशभर में एटीएम खोले गए लेकिन वहां भी जनता को परेशानी उठानी पड़ रही है। शाह ने इसपर कहा कि एटीएम मशीन हैं, मानव नहीं। वह वजन और आकार से ऑपरेट होती हैं। नए नोट का साइज अलग है। कुछ दिनों के लिए थोड़ी तकलीफ है, इसलिए जनता से अपील है, ये बहुत बड़ा कठोर कदम है तो थोड़ी तकलीफ हो सकती है।

 

 

Check Also

एक बार फिर अमेरिका चीन के बीच बनी तनाव की स्तिथि

चीन और अमेरिका के बीच एक बार फिर तनाव की स्थिति बनती जा रही है. …