इमरान से सालगिरह पर गिफ्ट मांगा तो उन्होंने तलाक दे दिया

इस्लामाबाद.इमरान खान की पूर्व पत्नी रेहम ने तलाक को लेकर खुलासा किया है। उन्होंने कहा है- “मैंने पिछले साल इमरान से शादी की सालगिरह पर गिफ्ट मांगा था, लेकिन उन्होंने तलाक दे दिया। प्रार्थना कीजिए कि कहीं वो पाकिस्तान के साथ भी ऐसा कुछ न कर बैठें।” बता दें कि तहरीके-ए-इंसाफ के प्रमुख इमरान खान ने 2 नवंबर को शरीफ सरकार के खिलाफ इस्लामाबाद में बड़े पैमाने पर बंद का एलान कर रखा है। इसे लेकर पाकिस्तान में हड़कंप मचा हुआ है।
रेहम को क्यों लगा ये डर…
– न्यूज एजेंसी के मुताबिक, Geo न्यूज से बातचीत में रेहम ने कहा- “मैंने पिछले साल 31 अक्टूबर को मजाक में इमरान से कहा था कि मैं शादी की सालगिरह से पहले गिफ्ट चाहती हूं, लेकिन उन्होंने मुझे तलाक दे दिया।”
– इमरान का टीवी जर्नलिस्ट रेहम के साथ शादी के करीब 10 महीने बाद ही पिछले साल तलाक हो गया था। दोनों ने आपसी सहमति से एक-दूसरे को तलाक दिया था।
– इमरान की रेहम के साथ यह दूसरी शादी थी। इससे पहले उन्होंने जेमिमा गोल्डस्मिथ से शादी की थी।
– 9 साल बाद इमरान ने जून 2004 में जेमिमा से तलाक ले लिया था। इरमान और जेमिमा के 2 बेटे हैं।
– क्रिकेटर से नेता बने इमरान ने पिछले साल 30 अक्टूबर को रेहम से तलाक का एलान किया था। ऐसी खबरें आई थीं कि इमरान को रेहम के पॉलिटिक्स में दखल पर एतराज था।
इमरान पार्टी वर्कर्स से बोले- किसी भी कीमत पर इस्लामाबाद पहुंचें
– इमरान खान ने बीते रविवार को 30 अक्टूबर को राजधानी इस्लामाबाद में बंद का एलान दोहराया। उन्होंने अपने सभी पार्टी वर्कर्स से कहा कि वह किसी भी कीमत पर इस्लामाबाद पहुंचें।
– इमरान यह भी कहा- “नवाज शरीफ नरेंद्र मोदी के लिए ही काम कर रहे हैं। इमरान ने आरोप लगाया कि मई में जब नवाज किसी सर्जरी के लिए लंदन में थे, तो उन्होंने वहां से सबसे पहले मोदी को फोन किया था। दोनों का एजेंडा एक है।”
– नवाज शरीफ का पनामा पेपर्स लीक में नाम आने के बाद इमरान उनसे इस्तीफे की मांग कर रहे हैं।
– पाकिस्तान सरकार इमरान की पार्टी के आंदोलन को रोकने की तैयारी कर रही है। इमरान ने शरीफ को चुनौती दी है कि वो उनका आंदोलन और इस्लामाबाद मार्च रोककर दिखाएं।
राजधानी में कर्फ्यू जैसा माहौल
– इमरान की पार्टी तहरीक-ए-इंसाफ के इस्लामाबाद में विरोध प्रदर्शन को रोकने के लिए शरीफ सरकार ने 50 हजार जवान तैनात किए हैं। शहर में कर्फ्यू जैसा माहौल है।
– इस्लामाबाद पहुंचने वाले सारे रास्ते ब्लॉक कर दिए गए हैं और सड़कों पर कंटेनर रख दिए गए हैं।
शरीफ को क्या है डर?
– इमरान 2014 में भी 4 महीने तक इस्लामाबाद में ऐसा प्रदर्शन कर चुके हैं। शरीफ को डर है कि आंदोलन लंबा खिंचने पर उनके खिलाफ बने माहौल को हवा मिल सकती है।
– विरोध के लिए ऐसा वक्त चुना गया है, जब नए आर्मी चीफ की नियुक्ति भी लटकी हुई है, क्योंकि जल्द ही जनरल राहिल शरीफ का कार्यकाल खत्म होने वाला है।
पाक शेयर मार्केट को 400 करोड़ का नुकसान
– इमरान के इस बंद का असर पाक शेयर मार्केट पर भी पड़ रहा है। 20 अक्टूबर से अब तक शेयर मार्केट को 400 करोड़ का नुकसान हो चुका है।
– मार्केट में गिरावट के पीछे राजनीतिक अस्थिरता को बड़ी वजह माना जा रहा है। इन्वेस्टर्स इसी अस्थिरता से डरे हुए हैं। धार्मिक दलों के भी विरोध प्रदर्शनों में शामिल होने के बाद हालात और गंभीर हो गए हैं।

Check Also

वीआर हेडसेट न खरीद के देने पर 10 साल के बच्चे ने की मां कि हत्या

अमेरिका से एक हैरान कर देने वाला मामला सामने आया है। जहां एक 10 साल …