सगे भाइयों के हत्या को सुलझाने में उलझती दिख रही पुलिस

दो सगे भाईयों की शुक्रवार को निर्मम हत्या कर दी गई थी। दोनों के क्षत-विक्षत शव पुलिस ने बरामद किया था। अब उनकी हत्या की गुत्थी को सुलझाने में पुलिस के पसीने छूट रहे हैं।

 

 पटना.  पटना में सगे भाइयों अभिषेक चौधरी और सागर उर्फ वीरू की हत्या का राज अभी तक राज ही बना हुआ है। पुलिस इस मर्डर केस की गुत्थी जितना सुलझाने का प्रयास कर रही है उसे उतनी ही उलझन हो रही है। बात लड़कियों से लंबी-लंबी बातचीत का है तो वहीं संपत्ति विवाद पर भी कशमकश जारी है।

उन भाईयों की मौत का राज उनके घर में दफन हो सकता है। रिश्तेदार और दोस्त समेत नौ लोगों को हिरासत में लेकर पुलिस पूछताछ कर रही है, लेकिन मामले की तह तक नहीं पहुंच पा रही।

दोनों मृतकों के परिवार के लोग भी मामले की गुत्थी सुलझाने में पुलिस का सहयोग नहीं कर रहे हैं। छोटा भाई भोलू भी सामने नहीं आ रहा। छानबीन में संपत्ति के विवाद की बात सामने नहीं आई है। अभिषेक की पूर्व मंगेतर से दो घंटे तक पुलिस ने पूछताछ की है।

हत्या के बाद क्षत-विक्षत शव हुआ था बरामद

गांधी मैदान थाना क्षेत्र में जमाल रोड के कुमार कांप्लेक्स में भोजपुर मूल के सगे भाई अभिषेक और सागर की हत्या कर दी गई थी। दोनों के क्षत-विक्षत शव शुक्रवार की रात उनके बंद कमरे में मिले थे। एसएसपी मनु महाराज के अनुसार पुलिस को कई अहम सुराग मिले हैं। चार टीमें जांच में जुट गई हैं। हत्यारे जल्द गिरफ्त में होंगे। घटना में किसी नजदीकी का हाथ की आशंका है।

लड़की को लेकर परिवार में थी कलह

पुलिस मान रही है कि अभिषेक की शादी और लड़की को लेकर परिवार में कलह थी। किसी ने आहत होकर अभिषेक की नृशंस हत्या की साजिश रची। चूंकि सागर के मोबाइल और इतिहास खंगालने से कोई संदिग्ध जानकारी नहीं मिली, इसलिए माना जा रहा है कि वह बेमौत मारा गया। वह या तो वारदात के दौरान पहुंच गया होगा, या फिर हत्यारों को अभिषेक अकेला नहीं मिला, इसलिए उन्होंने सागर को भी मार डाला।

मंगेतर के मोबाइल की होगी जांच

विश्वकर्मा पूजा से एक दिन पूर्व रोहतास की एक लड़की से अभिषेक की सगाई हुई थी और शादी की तारीख 23 नवंबर तय की गई। बिना कारण बताए अभिषेक ने सगाई तोड़ दी, लेकिन पूर्व मंगेतर से लगातार वह बातें करता रहा। हत्या के एक दिन पहले उसके छोटे भाई ने पटना आकर शादी के मुद्दे पर बात की थी। पुलिस लड़की के मोबाइल कॉल डिटेल की जांच करेगी। उस लड़की का रिश्ता अभिषेक की बहन की ससुराल की तरफ से था।

नारायणपुर में कैंप कर रही पटना पुलिस

पटना पुलिस की पांच सदस्यीय टीम भोजपुर के पीरो अंतर्गत नारायणपुर गांव में कैंप कर रही है। अभिषेक और सागर के बारे में रिश्तेदारों और पड़ोसियों से पता लगाया जा रहा है। तफ्तीश ने मालूम हुआ कि सगाई के बाद उनके घर वालों ने लड़की के परिजनों ने शादी की तैयारी के लिए मोटी रकम ली थी, लेकिन सगाई टूटने के बाद रुपये नहीं लौटाए।

कई लड़कियों से होती थी बात

पुलिस सूत्रों की मानें तो अभिषेक तीन मोबाइल नंबरों का इस्तेमाल करता था। नंबरों को खंगाला गया तो मालूम हुआ कि कई लड़कियों से उसकी लंबी-लंबी बातें होती थीं। सगाई टूटने के बाद पूर्व मंगेतर से फोन पर बातें करना, पुलिस की समझ से परे है।

आखिरी बार पूछा था भाई का हाल

23 नवंबर को अभिषेक ने आखिरी बार घर पर बात की थी। इस तारीख पर उसकी शादी होने वाली थी, जो टूट गई। अंतिम बार अभिषेक ने मां से बात की और छोटे भाई अमित उर्फ भोलू का हाल पूछा था।

Check Also

आरसीपी सिंह का CM नीतीश कुमार पर हमला

पूर्व केंद्रीय मंत्री आरसीपी सिंह ने कहा कि शराबबंदी से बिहार सरकार को बड़ा नुकसान …