कार में मिली इंजेक्शन के साथ लड़के की लाश जानिए क्या था घटना का सच?

चंडीगढ़.घर से दुकान के लिए निकले एक 22 साल के युवक का शव उसकी कार में संदिग्ध परिस्थितियों में मिला है। जांच में मृतक की कार से दर्जन भर इंजेक्शन बरामद हुए हैं। इसके आधार पर पुलिस युवक की मौत का कारण ड्रग ओवरडोज मान रही है। मृतक की पहचान सेक्टर-23 के रहने वाले निखिल बजाज के रूप में हुई है। साढ़े तीन घंटे पड़ा रहा कार में …
-मृतक निखिल के पिता की सेक्टर-22 शास्त्री मार्केट में दुकान है और निखिल पिता के साथ ही कारोबार कर रहा था।
-पुलिस ने निखिल की कार की फोरेंसिक टीम से जांच करवा अपने कब्जे में ले लिया है।
– निखिल के परिवार में पिता नरेंद्र बजाज, मां और एक छोटा भाई अखिल है।
– निखिल ने बीए फर्स्ट ईयर के बाद से पढ़ाई छोड़ दी थी।
– इसके बाद से वह अपने पिता के साथ दुकान पर जाता था और कारोबार में हाथ बंटा रहा था।
– घरवालों के मुताबिक, निखिल घर से दुकान के लिए निकला था, इसके बाद से उसका कुछ पता नहीं था कि वह कहां पर हैं।

साढ़े तीन घंटे पड़ा रहा कार में

– निखिल की कार घर से करीब आधा किलोमीटर दूरी पर सेक्टर-23 में योगा सेंटर टर्न के पास एक घर के सामने खड़ी हुई थी। इस घर के पास सतनाम सिंह उर्फ घुग्गी जो अपना ढाबा चलाते हैं। इन्होंने ही पुलिस को शिकायत दी थी।

– सतनाम सिंह के मुताबिक, कार में निखिल बैठा हुआ था। इसके बाद लगभग चार घंटे तक कार वहीं खड़ी हुई थी। उन्होंने कार के पास जाकर देखा तो पाया कि निखिल ड्राइवर सीट की तरफ थोड़ा झुका हुआ था।

– सतनाम ने तुरंत पुलिस कंट्रोल रूम पर सूचना दी। मौके पर पीसीआर की जिप्सी पहुंची और निखिल को जीएमएसएच-16 ले गई, यहां पर डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया।
मुंह से निकल रहा था खून:

सतनाम के मुताबिक, जब निखिल की लाश को उसने देखा तो पुलिस को फोन किया। पुलिस के आने पर कार को खोला गया। अंदर निखिल के देखा तो निखिल के मुंह पर खून लगा हुआ था, यह खून उसके मुंह से निकला था या नाक से यह साफ तौर पर नहीं दिख रहा था।
सेक्टर-22 में बिक रहा नशा:

निखिल की मौत के बाद मार्केट के लोग भी घर पहुंचे। उन्होंने बताया कि सेक्टर-२२ में सरेआम नशा बिक रहा है। इतना ही नहीं मार्केट के एक कपड़ा व्यापारी का बेटा भी नशा बेच रहा है हालांकि, उन्होंने साफतौर पर किसी का नाम नहीं लिया है।

मौत का कारण ड्रग ओवरडोज….

प्राथमिक जांच में लग रहा है कि मौत का कारण ड्रग ओवरडोज हो सकता है। इसकी पुष्टि पोस्टमार्टम के बाद ही होगी।-रामगोपाल, डीएसपी सेंट्रल

चाचा के पैर छूकर निकला था…

निखिल के चाचा राजेश बजाज के मुताबिक वह सुबह ही उनके पैर छूकर घर से निकला था। निखिल बहुत अच्छा लड़का था और काम में पूरा ध्यान देता था। उन्होंने कहा कि गलत लड़कों की संगत के चलते वह नशे की लत में पड़ा और इसके चलते उसे नशा मुक्ति केंद्र में भर्ती करवाया गया था।

 

Check Also

आखिर क्यों बरसे भाजपा पर खड़गे ?

राहुल गांधी , गांधी परिवार के चौथे नेता के रूप में पठानकोट में जनसभा करने …