केंद्रीय कृषि मंत्री ने कहा: दुग्ध उत्तपादन को सरकार देगी प्रोत्साहन

नई दिल्ली : डेयरी के भरोसे सरकार कृषि क्षेत्र को रफ्तार देने की कोशिश में जुटी हुई है। किसानों की आमदनी को दोगुना करने के लिए सरकार इस क्षेत्र को पर्याप्त प्रोत्साहन देगी। केंद्रीय कृषि मंत्री राधा मोहन सिंह ने कहा कि देश दूध के उत्पादन के मामले में विश्व में पहले नंबर पर है। सिंह ने इस उपलब्धि का पूरा श्रेय छोटे दूध उत्पादकों को देते हुए कहा कि दुग्ध उत्पादों की मांग में लगातार वृद्धि को देखते हुए वर्ष 2025 तक 24 करोड़ लीटर दूध की जरूरत पड़ेगी।

डेयरी में नई प्रौद्योगिकी जरूरी:
कृषि मंत्री सिंह मंगलवार को यहां एक समारोह में हिस्सा ले रहे थे। उन्होंने कहा कि दूध की मांग को पूरा करने के लिए डेयरी क्षेत्र में विज्ञान और आधुनिक प्रौद्योगिकी का इस्तेमाल बहुत जरूरी हो गया है। भारत में अछी नस्ल की गायों के होने के बावजूद दूध की उत्पादकता में पर्याप्त वृद्धि नहीं हो पा रही है। इसमें सुधार की सख्त जरूरत है। सरकार ने इस दिशा में सकारात्मक प्रयास शुरू कर दिये हैं।

सरकार करेगी कई उपाय:
आगामी वर्षो में दुग्ध उत्पादन की दर छह फीसद से अधिक होनी चाहिए, जिसके लिए सरकार ने पुख्ता कदम उठाया है। इसके लिए उन्नत प्रौद्योगिकी, क्षमता निर्माण, मार्केटिंग, वैज्ञानिक पशु प्रबंधन, दूध उत्पादन से संबंधित जानकारी और बेहतर ऋण सुविधा का बंदोबस्त जरूरी है। कृषि मंत्री ने कहा कि डेयरी सेक्टर में युवाओं व महिलाओं के लिए अछे रोजगार के अवसर मिलेंगे। इस क्षेत्र के विकास के रास्ते कृषि क्षेत्र के भाग्य खुलेंगे।

Check Also

आरसीपी सिंह का CM नीतीश कुमार पर हमला

पूर्व केंद्रीय मंत्री आरसीपी सिंह ने कहा कि शराबबंदी से बिहार सरकार को बड़ा नुकसान …