पेशी को लाए जा रहे एक कैदी ने सिपाहियों की आंखों में मिर्च पाउडर झोंका!

देहरादून में अदालत में पेशी को लाए जा रहे एक कैदी ने सिपाहियों की आंखों में मिर्च पाउडर झोंककर भागने का प्रयास किया। लोगों ने भाग रहे कैदी को दबोच लिया और पुलिस को सौंप दिया।

 देहरादून:  हरिद्वार से अपर जिला जज चतुर्थ की अदालत में पेशी को लाए जा रहे एक कैदी ने सिपाहियों की आंखों में मिर्च पाउडर झोंककर भागने का प्रयास किया। कोर्ट परिसर में ही अन्य दो सिपाहियों ने भागते हुए कैदी को धर दबोचा। सिपाहियों को इलाज के लिए दून अस्पताल भेज दिया गया। पुलिस पूछताछ में आरोपी शंशाक ने बताया कि रास्ते में खाना खाने के दौरान उन्होंने होटल से चुपके से मिर्च पाउडर छुपा लिया था।

जानकारी के अनुसार, हरिद्वार से दीपक बजाज (58 वर्ष) पुत्र मनोहर लाल बजाज हाल निवासी शिवलोक कॉलोनी थाना रानीपुर जनपद हरिद्वार व उसके बेटे शशांक बजाज (24 वर्ष) को गुरुवार को हेड कांस्टेबल सुखदेव, कांस्टेबल चेतन व कांस्टेबल बृजेश पेशी के लिए देहरादून लेकर आए। दिन में करीब पौने तीन बजे उन्हें अपर जिला जज चतुर्थ विजेंद्र शाह के अदालत में पेश किया जा रहा था।

इसी दौरान शशांक बजाज ने सिपाही चेतन व बृजेश की आंखों में मिर्च पाउडर फेंक कर भागने का प्रयास किया। कैदी के भागने से न्यायालय परिसर में अफरा-तरफा मच गई। इसी दौरान न्यायालय परिसर में नियुक्त कांस्टेबल राजेश व कपिल सीढ़ियों से ऊपर आ रहे थे। सिपाहियों को कैदी के पीछे दौड़ता देख उन्होंने अन्य लोगों की मदद से उसे पकड़ लिया। उक्त दोनों कैदियों पर हत्या, हत्या का प्रयास व विभिन्न धाराओं में मुकदमें दर्ज हैं।

आरोपी शशांक के विरुद्ध थाना कोतवाली नगर में उक्त संबंध में अभियोग पंजीकृत किया जा रहा है। कोतवाल डीएस रावत ने बताया कि दोनों आरोपी पूर्व में देहरादून स्थित सुद्धोवाला जेल में बंद थे। जून 2016 को प्रशासनिक आधार पर उनको देहरादून जेल से हरिद्वार जेल स्थानांतरित किया गया था। दोनों आरोपी मूल रूप से मोहल्ला पनगड़िया, थाना कोतवाली सदर जिला बदायूं (यूपी) के रहने वाले हैं। वहां भी दोनों के खिलाफ अलग-अलग धाराओं में पांच मुकदमे दर्ज हैं।

Check Also

Nokia C22 भारत में 13MP मुख्य कैमरे के साथ लॉन्च, जानें कीमत और स्पेसिफिकेशन

नोकिया ने बाजार में अपना नवीनतम बजट सेगमेंट डिवाइस नोकिया सी 22 लॉन्च किया है, …