क्या आप भी गोल-मटोल फिगर से हैं परेशान

ग्रहों के अशुभ प्रभाव से मोटा हो जाता है व्यक्ति, जिससे उससे रोग, मानसिक चिंताएं और शर्मिंदगी छेलनी पड़ती है। खानपान सही है फिर भी बढ़ रहा है मोटापा तो इसका कारण हार्मोन में असंतुलन है। मुख्य रूप से बृहस्पति मोटापे का कारण होता है। कभी-कभी चन्द्रमा अथवा शुक्र के कमजोर होने के कारण भी यह समस्या हो जाती है। मंगल, शनि राहू और केतु शरीर को छरहरा और पतला रखते हैं। मेष, वृष, मकर, कर्क, वृश्चिक, तुला और मीन राशि के जातको में मोटापे की समस्या अधिक होती है। जन्म कुंडली के अनुसार भी मोटापा घटता बढ़ता रहता है।

मोटापा न केवल शारीरिक समस्या है बल्कि मानसिक समस्या भी है। कसरत करने और खान-पान पर कंट्रोल करने पर भी मोटापा नहीं जा पाता, कभी सोचा है आपने ऐसा क्यों होता है? ज्योतिष के जानकार कहते हैं ग्रहों का प्रभाव बढ़ाते हैं मोटापा। मोटापा सिर्फ एक गंभीर शारीरिक समस्या ही नहीं है बल्कि एक बड़ी मानसिक समस्या भी है। मोटापे की वजह से तमाम तरह की बीमारियों का खतरा बढ़ जाता है। कई बार एक्सरसाइज करने या खान-पान पर कंट्रोल करने से भी मोटापा कम नहीं होता। ज्योतिष के जानकार मानते हैं कि मोटापा बढ़ने की वजह ग्रह-नक्षत्रों का कमजोर होना भी है। इसके लिए करें उपाय
सोमवार का उपवास रखें।
चांदी के गिलास में पानी पीएं।

समान वजन के मोती और मूंगे को पहनें।
सफेद चंदन को अपने कंठ पर प्रतिदिन लगाएं।

जन्मजात मोटापा
जिन लोगों का चन्द्रमा स्ट्रांग होता है वह जन्म से गोल-मटोल होते हैं। ऐसे अधिकतर मामलों में बच्चे वक्त के साथ-साथ सही शारिरिक आकार में आ जाते हैं।
ऐसे बच्चों को सप्ताह में कम से कम दो बार पंचामृत पिलाएं।
हर रोज तांबे के बर्तन में जल पिलाएं।
9 वर्ष से 30 साल के बीच का मोटापा
9 वर्ष से 30 साल के बीच जो लोग होते हैं अगर वो मोटापे से ग्रस्त हैं तो इसके कारक ग्रह राहू और बृहस्पति हैं। बृहस्पति से खाने में रूची बढ़ती है। राहू से इधर-उधर का खाने की आदत पड़ जाती है।
उपाय
* हर रोज नींबू पानी पीएं।
* सूर्यास्त के बाद भारी खाना खाने से परहेज करें।
* पालथी मारकर बैठने की आदत डालें
* हाथ से भोजन खाएं।
* ओनक्स रत्न धारण करें।

शादी के बाद का मोटापा
शादी के बाद अधिकतर लोग मोटे हो जाते हैं। आप भी इस समस्या से परेशान हैं तो इसके कारक ग्रह चन्द्रमा, शुक्र और बृहस्पति हैं। भोजन ग्रहण करने के तरीके और रसायनों में बदलाव के कारण व्यक्ति मोटा हो जाता है। ऐसा मोटापा समाप्त करना बहुत मुश्किल होता है। कृक, वृष, कन्या, वृश्चिक, मीन और मकर राशि के जातको के साथ यह समस्या ज्यादा पैदा होती है।
* शादी के बाद हीरा और पुखराज पहनने से पहले विद्वान की सलाह लें।
* प्रतिदिन सुबह सूरज को रोली मिलाकर जल अर्पित करें।
* रेशम का एक लाल धागा कमर पर नाभि के ऊपर बांधे।
* दंपति सोते समय अपना सिर पूर्व दिशा में करके सोएं।

जन्मपत्री के छठे भाव से आती हैं समस्याएं, जानें ग्रहों की चाल कैसे कर रही है आपका बुरा हाल
क्या आप भी डिंपल वाली स्किन से परेशान?
रोज का एक अखरोट करें कोलेस्ट्रॉल कंट्रोल!
बुधवार को करें ये काम: बुढ़ापे से रहेंगे कोसों दूर, जीवन में भरेगा नया जोश
सूर्य षष्ठी पर्व कल: खास भोजन खाने और खिलाने से मिलेगा नाम और यश
हल्दी के भी हो सकते है कई साइड-इफैक्ट!

Check Also

अस्पतालों में पड़ताल के चलते डेंगू की जांच में निजी अस्पताल कमा रहे मुनाफा

शासन की सख्ती के बाद भी जिले के सरकारी अस्पतालों में डेंगू मरीजों को इलाज …