खुद को जिन्दगी की जंग में हारता देख किया ये फैसला

ग्वालियर। सुबह जागने के बाद बच्चों को लाड़ किया, पत्नी के साथ बैठकर चाय पी और फिर कमरे में जाकर फांसी लगा ली। स्मैक की लत के कारण राजेन्द्र से परिवार नाराज रहता था, लेकिन उसने यह आत्मघाती कदम उठाने का किसी को अहसास तक नहीं होने दिया। घटना बुधवार सुबह 7 बजे सिद्धेश्वर नगर थाटीपुर में हुई है। पुलिस ने शव का पोस्टमार्टम कराने के बाद मर्ग कायम कर लिया है।

थाटीपुर थाना क्षेत्र स्थित सिद्धेश्वर नगर आसमानी माता वाली गली निवासी राजेन्द्र सिंह भदौरिया (24) पेशे से मालनपुर स्थित निजी कंपनी में कर्मचारी था। वह स्मैक पीने का आदी था। इस कारण काम पर भी कम जाया करता था। उसकी स्मैक की लत के कारण परिवार के लोग भी नाराज रहते थे।

काम पर नहीं जाने के चलते आर्थिक तंगी भी थी। रोज की तरह बुधवार सुबह 5:30 बजे राजेन्द्र व उसकी पत्नी सपना नींद से जागे। दोनों ने बैठकर चाय पी। इसके बाद राजेन्द्र का छोटा भाई नरेन्द्र नोट बदलवाने के लिए बैंक की लाइन में लगने निकल गया।

चाय पीने के बाद वह अपनी डेढ़ साल की बेटी व 7 महीने के बेटे के साथ खेलने लगा और उन्हें लाड़ करने लगा। पत्नी अन्य काम में व्यस्त हो गई और इसी बीच राजेन्द्र ने साफी से फंदा बनाकर पास के कमरे में फांसी लगा ली। कुछ देर बाद जब पत्नी कमरे में पहुंची तो वह फंदे पर लटका मिला।

सूचना मिलते ही पुलिस मौके पर पहुंची। शव को उतारकर पोस्टमार्टम के लिए भिजवाया। फिलहाल आत्महत्या के पीछे आर्थिक तंगी ही समझी जा रही है। थाटीपुर पुलिस ने मर्ग कायम कर मामले की जांच शुरू कर दी है।

Check Also

खंडवा में एक युवक के धर्म परिवर्तन करने का मामला आया सामने

खंडवा में बीते गुरुवार को करीब पांच महीने बाद एक युवक थाने में मस्जिद के …