घर में पसरा मातम, आर्शीवाद की जगह मौत

चंडीगढ़। करनाल में आयोजित एक सगाई कार्यक्रम में किसी को नहीं पता था कि एक ऐसा मेहमान भी इस समारोह में आएगा जो शगुन में आर्शीवाद नहीं बल्कि मातम दे जाएगा। जी हां करनाल रेलवे स्टेशन के नजदीक स्थित सवित्री लॉन में सगाई कार्यक्रम आयोजित किया गया था जिसमें देवा फाउंडेशन की अध्यक्ष साध्वी देवा ठाकुर आर्शीवाद की जगह मातम फैला कर चली गई। साध्वी देवा ठाकुर अपने गनमैनों के साथ डीजे पर खुशी में चलाई जा रही गोलियां ने सुनीता (50) नाम की महिला की जान ले ली और एक बच्ची समेत 4 लोग गंभीर रूप से घायल कर दिया।

सात-आठ हथियारबंद युवकों को लेकर समारोह में आई साध्वी

बता दें कि समारोह में साध्वी देवा ठाकुर को भी विशेष तौर पर बुलाया गया था। देवा ठाकुर इस शादी में अपने साथ लगभग सात-आठ हथियारबंद युवकों को लेकर पहुंची थी। दूल्हे को आशीर्वाद देने के बाद अपराह्न करीब साढ़े तीन बजे डीजे पर डांस करते हुए साध्वी और उनके साथियों ने खुशी में जमकर फायरिंग की। इसी दौरान एक बंदूक से फायर मिस होने के कारण यह हादसा हुआ।

महिला की मौत के बाद भी जारी रही फायरिंग

घायलों को तुरंत एक निजी अस्पताल में ले जाया गया जहां डॉक्टरों ने सुनीता को मृत घोषित कर दिया। हैरान करने वाली बात ये रही कि महिला को गोली लगने के बाद भी हर्ष फायरिंग का सिलसिला जारी रहा। पुलिस ने साध्वी देवा ठाकुर समेत सात-आठ अन्य पर हत्या, हत्या के प्रयास और आर्म्स एक्ट के तहत केस दर्ज कर लिया है। मौके से गोलियों के दर्जनों खोल बरामद किए गए हैं।

आरोपी हैं गिरफ्त से बाहर

सिटी थाना प्रभारी मोहन लाल ने बताया कि साध्वी देवा ठाकुर और पांच-छह अन्य लोगों के खिलाफ सुनीता के पति वीरेंद्र की शिकायत पर हत्या सहित विभिन्न धाराओं के तहत मामला दर्ज कर लिया है। फिलहाल आरोपी पुलिस गिरफ्त से बाहर हैं।

Check Also

खंडवा में एक युवक के धर्म परिवर्तन करने का मामला आया सामने

खंडवा में बीते गुरुवार को करीब पांच महीने बाद एक युवक थाने में मस्जिद के …