जंतर-मंतर पर ममता बनर्जी का हल्ला बोल नोटबंदी पर…

मोदी सरकार के नोटबंदी के फैसले का विरोध कर रहीं पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी आज दिल्ली के जंतर-मंतर पर धरना दे रही हैं। ममता की पार्टी टीएमसी संसद में भी नोटबंदी का विरोध कर रही है। आज संसद भवन परिसर में विपक्षी दलों के विरोध-प्रदर्शन में टीएमसी ने भी हिस्सा लिया। मंगलवार को पश्चिम बंगाल में हुए उप चुनाव में टीएमसी की जीत को नोटबंदी के खिलाफ ‘लोगों की बगावत’ करार देते हुए ममता ने पीएम मोदी पर हमला बोलते हुए कहा था कि वह विदेशों से काला धन लाने में नाकाम रहे हैं।

उप चुनाव में मिली जीत केंद्र के खिलाफ जनता की बगावत

विपक्ष की ओर से आयोजित विरोध रैली में शामिल होने के लिए नई दिल्ली रवाना होने से पहले मंगलवार को ममता ने पत्रकारों से कहा, ‘उप-चुनाव के नतीजे केंद्र के नोटबंदी के जनविरोधी फैसले के खिलाफ एक करारा जवाब है। यह केंद्र के खिलाफ बड़े पैमाने पर कोई विद्रोह नहीं, बल्कि जनता की बगावत है। बीजेपी को इस जनादेश से सबक सीखना चाहिए।

500/1000 रुपये के नोट बंद होने और नए नोट मिलने में हो रही दिक्कत को लेकर आप पर क्या प्रभाव पड़ रहा है ?

सरकार का उद्देश्य अच्छा है लेकिन लागू करने का तरीका थोड़ा परेशान करने वाला है।देश के सामने काला धन विकराल समस्या है। हमें सहयोग करना चाहिए।अनेक अस्पताल, रेलवे स्टेशन व पेट्रोल पंप पर पुराने नोट नहीं ले रहे हैं।ई बैंकिंग/चेक से लेन-देन का काम आसानी से कर सकते हैं।एटीएम में पैसा नहीं मिलता, आने-जाने व सामान खरीदने में दिक्कत है।

 

ममता ने कहा, ‘पंजाब और उत्तर प्रदेश के चुनावों में बीजेपी कहीं नहीं रहेगी। नरेंद्र मोदी सरकार विदेशों से काला धन लाने में नाकाम रही है, जबकि उन्होंने 2014 के लोकसभा चुनावों के दौरान यह वादा किया था। चूंकि वह अपना वादा पूरा करने में नाकाम रहे हैं, इसलिए आम लोगों को परेशान किया जा रहा है। आम लोगों की मेहनत की कमाई छीनी जा रही है।’ पश्चिम बंगाल की दो लोकसभा और एक विधानसभा सीट पर हुए उप-चुनाव में ममता की पार्टी तृणमूल कांग्रेस को जीत हासिल हुई है।

तामलुक लोकसभा सीट से तृणमूल कांग्रेस के उम्मीदवार दिव्येंदु अधिकारी ने जीत हासिल की। दिव्येंदु ने अपनी सबसे करीबी प्रतिद्वंद्वी और माकपा उम्मीदवार मंदिरा पांडा को 4.97 लाख वोटों से हराया।

 

Check Also

आखिर क्यों बरसे भाजपा पर खड़गे ?

राहुल गांधी , गांधी परिवार के चौथे नेता के रूप में पठानकोट में जनसभा करने …