तेंदुए की मौजूदगी से गाँव में मची दहशत

नई दिल्ली- बाहरी दिल्ली के जगतपुर गांव स्थित यमुना बायोडायवर्सिटी पार्क में विचरण कर रहा जंगली तेंदुआ अभी भी पकड़ा नहीं जा सका है। उसे पकड़ने के लिए किए जा रहे प्रयास अभी भी सफल नहीं हो पाए हैं। दूसरी ओर इस तेंदुए की मौजूदगी का गांव वाले लगातार विरोध कर रहे हैं और इसे पकड़कर कहीं और छोड़ने की मांग कर रहे हैं। इस समस्या से निपटने के लिए पार्क में अब एक और पिंजरा लगाने का निर्णय लिया गया है। पार्क में एक पिंजरा पहले से ही लगा हुआ है, जिसमें यह जंगली तेंदुआ अभी तdownloadक नहीं फंस पाया है।

डीडीए के इस पार्क में यह तेंदुआ पिछले कई दिनों से विचरण कर रहा है। तेंदुए के वहां आने पर पार्क अफसरों ने खासी प्रसन्नता जताई थी और इस बात से गदगद हुए थे कि पार्क का वातावरण इस जंगली जानवर को रास आ रहा है। लेकिन उनकी यह खुशी दो-चार दिन ही रही, जब स्थानीय गांव वालों ने इसकी मौजूदगी पर सवाल खड़े किए और आशंका जताई कि वहां आसपास हो रही खेतों और किसानों के लिए यह तेंदुआ परेशानी का सबब बन सकता है। जब मसला दिल्ली सरकार के पर्यावरण व वन मंत्री इमरान हुसैन तक पहुंचा तो उन्होंने पार्क अफसरों से इसकी रिपोर्ट मंगा ली, जिसके बाद इस तेंदुए को पकड़कर किसी और सुरक्षित वन में छोड़ने का फैसला लिया गया। इसके लिए लगातार प्रयास जारी हैं।

बताते हैं कि पिछले शनिवार से सरकार का वन विभाग इस तेंदुए को पकड़ने का लगातार प्रयास कर रहा है। इसके लिए तेंदुए के विचरण क्षेत्र में पिंजरा लगा दिया गया है और पिंजरे के एक तरफ हर रात को एक बकरा भी बांधा जा रहा है, लेकिन तेंदुआ पिंजरे में फंस ही नहीं रहा है। सूत्र बताते हैं कि कल विभाग के चीफ वाइल्ड लाइफ वॉर्डन एके शुक्ला ने पार्क के अफसरों से मंत्रणा की कि आखिर तेंदुआ पिंजरे में फंस क्यों नहीं रहा है। पार्क अफसरों ने उन्हें बताया है कि वहां तेंदुए के भोजन के लिए
इफरात में खरगोश, नीलगाय के बच्चे आदि मौजूद हैं, इसलिए पिंजरा और बकरा उसे आकर्षित नहीं कर रहा है। निर्णय लिया गया कि पार्क में एक और पिंजरा लगाया जाए। बताते हैं कि कल शाम को यह पिंजरा पार्क में पहुंच चुका है, उसे आज रात तेंदुए के विचरण क्षेत्र में लगा दिया जाएगा। विभाग सूत्रों के अनुसार एक-दो दिन में अगर यह तेंदुआ पिंजरे में नहीं फंसा तो उसे बेहोश करने के सिस्टम से पकड़ने पर विचार किया जाएगा।

Check Also

अखिलेश प्रसाद मौर्य हुए कांग्रेस पार्टी में शामिल

जब उनसे यह पूछा गया कि तो क्या आप आरसीपी सिंह को नौकरी देंगे? इसके …