दुल्हन पहुची कलेक्टर आफिस बैंक से ढाई लाख रूपये निकालने की परमिशन ली

500 और 1000 के नोट बंद होने से सबसे ज्यादा तकलीफ उन लोगों को आ रही है, जिनके घर में शादी है। ऐसा ही एक मामला जबलपुर में सामने आया, जब एक दुल्हन शिखा सेन बैंक से ढाई लाख रुपए निकालने के लिए कलेक्टर महेश चंद्र चौधरी से अनुमति लेने पहुंच गईं।

दुल्हन के साथ उसका परिवार भी था। उसे आस थी कि कलेक्टर की अनुमति के बाद उन्हें बैंक से पैसा मिल जाएगा। लेकिन आरबीआई की ओर से ऐसे कोई दिशा-निर्देश नहीं हैं जिस पर कलेक्टर की अनुमति से बैंक पैसा दे सके। हालांकि परिवार की समस्या सुनने के बाद कलेक्टर ने बैंक को चेकबुक जारी करने के निर्देश दिए है, जिससे उनका काम चल जाए।

परिवार का अकाउंटर यूनियन बैंक में है। दुल्हन का कहना है कि जब हम शादी का कार्ड लेकर बैंक गए तो मैंनेजर ने हमें यह बताया‍ कि आप पैसा निकालने की अनुमति कलेक्टर से लें, जिसके बाद हम यहां पहुंचे हैं। लेकिन यहां आकर पता चला कि वे भी इसके लिए अनुमति नहीं दे सकते। बैंक हमें चेकबुक भी नहीं दे रही थी, इस समस्या को कलेक्टर जी ने सुलझा दिया है। यह अकेला मामला नहीं है, मंगलवार सुबह से कलेक्टर के पास शादी के ऐसे और भी मामले पहुंचे हैं, जिस पर उन्होंने बैंकों को चेकबुक जारी करने के निर्देश दिए।

सोशल मीडिया पर चल रहे ये भ्रामक मैसेज

जिन लोगों के यहां शादी है, वे 5 लाख की राशि के पुराने नोट बैंक से एक्सचेज कर सकते हैं। लेकिन इसके लिए उन्हें प्रशासन और पुलिस के अधिकारियों से दी के कार्ड के साथ एक आवेदन देकर इसे वेरीफाई कराना होगा।

इस तरह के भ्रामक मैसेज फैलने के बाद कई लोग अधिकारियों के पास पहुंचे, लेकिन बाद में पता चला कि यह बात सही नहीं है। आरबीआई, केंद्र व राज्य सरकार से ऐसे कोई निर्देश जिला पुलिस मुख्यालय को नहीं मिले हैं। लोगों का कहना है कि यह मैसेज वाट्सएप ग्रुप व फेसबुक पर चल रहे हैं।

 

Check Also

खंडवा में एक युवक के धर्म परिवर्तन करने का मामला आया सामने

खंडवा में बीते गुरुवार को करीब पांच महीने बाद एक युवक थाने में मस्जिद के …