नक्सली इलाकों से छुड़ाए राजस्थान के व्यापारी

जयपुर-करौली।राजस्थान के व्यापारी के दोनों बेटों को बिहार के नक्सली इलाकों से छुड़ा लिया गया है। पुलिस ने मुस्तैदी दिखाते हुए दोनों बेटे व्यापारियों को छुड़ाने के साथ तीन अपहरणकर्ताओं को गिरफ्तार भी कर लिया है। इन व्यापारी पुत्रों का 4 करोड़ रुपए की फिरौती राशि के लिए अपहरण किया गया था।
कब हुअा था अपहरण…
– असल में मूल रूप से करौली के रहने वाले मार्बल व्यापारी बाबूलाल शर्मा के दो व्यापारी पुत्र सुरेश शर्मा कपिल शर्मा 21 अक्टूबर को दिल्ली से फ्लाइट से शाम साढ़े सात बजे पटना एयरपोर्ट पर पहुंचे थे।
– यहीं से दोनों का अपहरण कर लिया गया।
– इसके बाद सुरेश शर्मा ने रात करीब 11:30 बजे पिता को अपहरण की सूचना दी।
– इस घटना के बाद बिहार से लेकर राजस्थान की पुलिस सकते में आ गई।
– अब चार दिन बाद पटना पुलिस की विशेष टीम ने दोनों को नक्सली प्रभावित इलाके लखेसराय से छुड़ा लिया है।
– पुलिस को यह भी कामयाबी हासिल हुई कि तीन अपहर्ताओं को गिरफ्तार भी कर लिया है।
यह किया था पुलिस ने, यूं बनाई रणनीति
– इस अपहरण कांड को लेकर पटना के डीआईजी शालीन के निर्देशन में तीन स्पेशल टीमें गठित की गई।
– तीनों टीमों के सदस्यों ने पटना के समीपवर्ती चार जिलों में लगातार दबिश दी, चार दिन तक पुलिस को कोई सुराग नहीं लगा।
– इसके बाद एक टीम को कुछ सुराग मिला तो दोनों को छुड़ा लिया गया।
पहले थी मायूसी, अब खुशी की लहर
– जब करौली के दोनों व्यापारी पुत्रों की अपहरण की खबर आई तो यहां रह रहे दोनों के चाचा के घर और रिश्तेदारों में मायूसी छा गई थी।
– कोहराम मच गया था, लेकिन अब नई खबर के बाद यहां खुशी का माहौल बन गया है।
– करौली में रह रहे चाचा जगदीश प्रसाद ने भास्कर को बताया कि जब से यह अपहरण हुआ है, उन्हें भोजन तक नहीं भा रहा है। नींद नहीं आ रही।
– आज भी वे सुबह चार बजे ही जाग गए। टीवी खोल लिया। पटना का एक चेनल।
– सवा छह बजे जब टीवी पर दिखाया कि दोनों भतीजे पुलिस की गाड़ी में बैठे हैं और पुलिस ने उन्हें छुड़ा लिया है तो जान में जान आई।
– अब घर में परिवार के अन्य सदस्य काफी खुश दिखाई दे रहे हैं।

Check Also

दिल्ली में दरिंदगी की देहशत

निर्भया कांड आजाद हिंदुस्तान की उन वीभत्स और जघन्य घटनाओं में से एक है। जिसने …