प्रेमी के घर जाने पर नवविवाहिता की भरी पंचायत में की गई पिटाई

उत्तर प्रदेश के पीलीभीत जनपद में हुई महापंचायत ने तुगलकी फरमान सुनाते हुए एक नवविवाहिता की सरेआम पिटाई की. मामला गजरौला थाना इलाके का है जहां ग्रामप्रधान और पंचों के कहने पर पूरे गांव के सामने इसलिए पिटाई की गई क्योंकि वह अपने प्रेमी के साथ उसके घर रहने लगी थी.
इस महापंचायत में पिटाई की सूचना मिलने पर नींद से जागी पुलिस मौके पर पहुची और पंचायत भंग कराते हुए ग्रामीण और पंचों को वहां से खदेड़ा. फ़िलहाल पुलिस ने मारपीट का मामला दर्ज कर पीड़ित नवविवाहिता को उपजिलाधिकारी न्यायालय में पेश किया है.

pilibhit-panchayat
पीलीभीत के गजरौला थाना इलाके में स्थित सरायसुंदरपुर गांव में आयोजित महापंचायत ने तुगलकी फरमान जारी करते हुए ग्रामीणों ने नवविवाहिता को जमकर पीटा. दरअसल पीड़िता की शादी उसके पिता ने उसकी मर्जी के खिलाफ जिला बरेली के नवाबगंज में कर दिया था. कुछ समय बा
द पीड़ित नवविवाहिता जब अपने मायके लौटी तो गांव में रहने वाले अपने प्रेमी के घर चली गई और वहीं रहने का फैसला कर लिया.
जिसके बाद गांव के पंच और परिजन इसी बात को लेकर एक महापंचायत करते हुए पहले तो जबरन नवविवाहिता को बुलवाया. उसके बाद उसे प्रेमी के घर से अपने घर भेजने का दबाव बनाने लगे. इस पर नवविवाहिता ने जब विरोध जताया तो उसे ग्रामप्रधान और पंचों के कहने पर परिजन और ग्रामीणों से बेरहमी से पिटवाया गया.
इस घटना की जानकारी मिलने पर नींद से जागी गजरौला पुलिस मौके पर पहुची और महापंचायत भंग कराते हुए ग्रामीण और पंचो को वहां से खदेड़ा. पुलिस ने आरोपियों पर मारपीट का केस दर्ज कर नवविवाहिता, प्रेमी और परिजनों को उपजिलाधिकारी न्यायालय सदर में पेश किया.

Check Also

मथुरा के प्रकाश चंद्र अग्रवाल आखिर क्यों बैठे धरने पर

मथुरा के प्रकाश चंद्र अग्रवाल ने अपने एक दिन के मुख्यमंत्री बनने पर कार्यकाल के …