नहीं आती नंदगांव से बारात, हो चुके हैं 5000 साल कोई विवाह संबंध नहीं हुआ है।

हालही में अक्षय कुमार अभिनीत फिल्म ‘टॉयलेट-एक प्रेम कथा’ चर्चा का विषय बनी हुई है। कारण है एक धार्मिक मान्यता , यह मान्यता करीब 5000 साल पुरानी है। फिल्म अभी रिलीज नहीं हुई है। लेकिन फिल्म में बरसाना और नंदगांव में विवाह के दृश्य को फिल्माया गया। यहां मान्यता है कि इन दोनों गांव में 5000 साल से कोई विवाह संबंध नहीं हुआ है।                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                           brajnandgaoun

धार्मिक मान्यता के अनुसार, राधा बरसाना की रहने वाली थीं जबकि कृष्ण नंदगांव के थे। नंदगांव के हर लड़के को कृष्ण के सखा और बरसाना की हर लड़की को राधा के रूप में माना जाता है। इसीलिए दोनों गांव के बीच लोगों में वैवाहिक रिश्ते नहीं होते हैं।

वर्तमान में बरसाना के बुजुर्ग नंदगांव को राधा की ससुराल भी मानते हैं। आलम यह कि वे नंदगांव का पानी भी नहीं पीते हैं। बरसाना और नंदगांव के महिला-पुरूषों के बीच आपसी संबंध में कोई किसी की बहन होगी तो कोई बुआ, ऐसे में विवाह संबंध करने का कोई सवाल ही नहीं। दोनों गांवों के बीच सिर्फ राधा कृष्ण के अलौकिक प्रेम संबंध निभाए जाते हैं।

कहा हैं नंदगांव और बरसाना

उत्तर प्रदेश राज्य के मथुरा जिले में है नंदगांव। यह नंदीश्वर नामक सुन्दर पहाड़ी पर बसा हुआ है। किंवदंती के अनुसार यह गांव भगवान कृष्ण के पिता नंदराय द्वारा एक पहाड़ी पर बसाया गया था। इसी कारण इस स्थान का नाम नंदगांव पड़ा।

वहीं, मथुरा जिले की छाता तहसील और यहां का नंदगांव ब्लाक में बरसाना है। यह एक क़स्बा और नगर पंचायत है। बरसाना का प्राचीन नाम वृषभानुपुर है।

Check Also

जानिए कब होंगे राम मंदिर के दर्शन ?

2 साल पहले 5 अगस्त को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अयोध्या में राम मंदिर के …